चीनी जेनशेन को विश्व में प्रसिद्ध बनाने के लिए चिलिन प्रांत की कोशिश

2017-09-15 18:37:59

 दोस्तों, क्या आप जानते हैं कि जेनशेन को जड़ी बूटियों का राजा माना जाता है। यह चीन और विदेशों में प्रसिद्ध महंगी चीनी हर्बल औषधि है। हर व्यक्ति इस औषधि के चमत्कारिक प्रभाव को जानता है। प्राचीन समय में छिंग राजवंश से जेनशेन को हमेशा से पूर्वोत्तर चीन के तीन खजानों में से प्रमुख माना जाता रहा है। लोग हमेशा इसके औषधीय मूल्य और आर्थिक लाभ पर बड़ा ध्यान देते हैं।

  चीन में जेनशेन का उत्पादन क्षेत्र पूर्वोत्तर चीन के चिलिन, ल्याओनींग और हेईलोंगच्यांग प्रांत हैं। यह औषधि प्रमुख रूप से चिलिन प्रांत के छांगपाईशान पहाड़ और इसके आसपास के क्षेत्रों, पूर्वोत्तर ल्याओनींग प्रांत के पहाड़ी क्षेत्र, हेईलोंगच्यांग प्रांत के ताशिंग एनलींग और श्याओशिंग एनलींग के वनीय क्षेत्रों में मिलता है। चिलिन प्रांत में जेनशेन की उत्पादन मात्रा पूरे देश के 80 प्रतिशत और विश्व के 70 प्रतिशत तक होती है। यह चीन यहां तक की विश्व में जेनशेन का सबसे बड़ा उत्पादन क्षेत्र है। चिलिन प्रांत के यानबिएन स्वायत्त क्षेत्र जेनशेन उद्योग पर बड़ा ध्यान देता है। इधर के वर्षों में वहां जेनशेन उद्योग के विकास की बेहतर स्थिति बनी रही है और इसके प्रमुख उपक्रमों का पैमाना निरंतर बढ़ रहा है। इस उद्योग का तेज़ विकास हो रहा है।

  यान बिएन स्वायत्त क्षेत्र के तायांगशेन कंपनी जेनशेन का उत्पादन और प्रसंस्करण करने वाली एक स्थानीय कंपनी है। वह जेनशेन के प्रमुख उत्पादन क्षेत्रों में से एक हेलोंग शहर के थोताओ कस्बे के तायांगखाई में स्थित है। इस कंपनी में जेनशेन के लगाए क्षेत्रफल एक हजार से भी अधिक हेक्टेयर है। यह चिलिन प्रांत में जेनशेन के संरक्षण प्रदर्शन केंद्र और यानबिएन विश्वविद्यालय का शिक्षण और अनुसंधान केंद्र भी है।

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी