चीन ने पूरी तरह खुलेपन की नई स्थिति बनाने को बढ़ावा दिया

2018-01-16 10:07:01

चीन ने पूरी तरह खुलेपन की नई स्थिति बनाने को बढ़ावा दिया

19वीं सीपीसी कांग्रेस की रिपोर्ट पर ज़ोर देते हुए कहा कि चीन में खुलेपन का द्वार बन्द नहीं होगा और यह द्वार दिनों दिन बड़ा होता जाएगा । चीन विदेशों के लिए द्वार खोलने की बुनियादी राष्ट्रीय नीति पर कायम रहेगा और अपने द्वारा खोलकर निर्माण करेगा। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय पोलित ब्यूरो की कार्य बैठक में कहा गया है कि पूरी तरह विदेशों के लिए खुलेपन की नई स्थिति बनाई जाएगी। नए युग में कैसे खुपेलन की नीति पर कायम रहा जाए, कैसे और अच्छी तरह खुलेपन की नीति को आगे बढ़ाया जाए, जो हाल ही में देशी-विदेशी विशेषज्ञों द्वारा गहन रूप से विचार-विमर्श किया गया मुद्दा बन गया है।

विश्व के सबसे बड़े उत्पाद व्यापार के निर्यातक देश और दूसरे बड़े आयातित देश के रूप में चीन सबसे अधिक विदेशी पूंजी निवेश आकर्षित करता है और विदेशों में भी अधिक निवेश करता है। चीन की खुलेपन नीति दुनिया की आँखों को आकर्षित करती है। पूरी तरह से खुलेपन की नई स्थिति बनाने का प्रस्ताव पेश किये जाने के बाद ही बाहरी दुनिया का ध्यानाकर्षण बन गया है। हेंग फेंग बैंक के अनुसंधान केंद्र के कार्यकारी अध्यक्ष तुंग शीमिओ की नज़र में पूरी तरह से खुलेपन की नई स्थिति का महत्व नये शब्द पर है।

तुंग शी मिओ ने कहा कि पूरी तरह से खुलेपन की नई स्थिति में नया क्षेत्र और तरीका है। नए क्षेत्रों में चीन द्वारा वित्तीय उद्योगों को खोलने का बड़ी तादाद में विस्तार किया जाना, चीन के प्रतिभूति, बीमा, बैंकिंग, फंड आदि उद्योगों में विदेशी संस्थानों के इक्विटी और निवेश का बड़े स्तर पर विस्तार किया जाना शामिल है। पहले लगाए गए प्रतिबंधों को भी कम किया गया है। नए तरीके का मतलब है कि पहले के परंपरागत क्षेत्रों में अब कई नए माध्यम से विदेशी पूंजी निवेश आकर्षित की जाती है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी