बांग्लादेश की कोयला-बिजली एकीकरण परियोजना में पावर चाइना शामिल

2019-02-25 16:04:00

बांग्लादेश की कोयला-बिजली एकीकरण परियोजना में पावर चाइना शामिल

पावर चाइना और ब्रिटेन की जीसीएम रिसोर्सेज़ पीएलसी कंपनी ने हाल ही में बांग्लादेश की राजधानी ढाका में फुलबारी 2000 मेगावाट कोयला आधारित बिजली स्टेशन परियोजना का संयुक्त अनुबंध करने वाले समझौते पर हस्ताक्षर किये, जिसकी रकम 3 अरब 50 करोड़ अमेरिकी डॉलर तक जा पहुंची है। यह चीनी उद्यम और पश्चिमी देश के उद्यम के बीच तीसरे पक्ष के सहयोग और विकास में एक मिसाल है।

बांग्लादेश चीनी वाणिज्य मंडल के अध्यक्ष लान वेई छांग, पावर चाइना के अंतर्राष्ट्रीय कंपनी के बोर्ड अध्यक्ष तिंग चेंग क्वो और ब्रिटेन की जीसीएम रिसोर्सेज़ पीएलसी कंपनी के प्रमुख दातुक माइकल टैंग ने 17 जनवरी को दोपहर के बाद ढाका के एक होटल में आयोजित हस्ताक्षर समारोह में भाग लिया।

इस समारोह में पावर चाइना के अध्यक्ष तींग जंग क्वो ने कहा कि पावर चाइना विश्व में सबसे बड़ा बिजली निर्माता होने के नाते विश्व में ऊर्जा और बुनियादी उपकरणों के निर्माण और एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण में जुटा है। इससे पहले पावर चाइना ने बांग्लादेश की तीन परियोजनाओं में 1 अरब 49 करोड़ अमेरिकी डॉलर का निवेश किया है और 22 अनुबंध मुद्दों की रकम 4 अरब 60 करोड़ अमेरिकी डॉलर तक जा पहुंची है। फुलबारी 2000 बिजली स्टेशन परियोजना का पैमाना काफी बड़ा है। उन्हें आशा है कि दोनों पक्षों को इस परियोजना को आगे बढ़ाने के लिए प्रयास करना चाहिए, ताकि उभय जीत हासिल हो सके।

तींग जंग क्वो ने कहा कि यह एक उद्यम और कई श्रेष्ठता वाले उद्यमों के बीच तीसरे पक्ष पर सफलता से सहयोग करने का परिणाम है। परियोजना का संसाधन बांग्लादेश से है और बिजली उत्पादन के बाद बांग्लादेश की सरकार और उसके लोगों को लाभ मिलेगा, जिससे यह ज़ाहिर है कि दोनों पक्षों की अपनी अपनी क्षमताओं से संयुक्त शक्ति बनी है और तीसरे पक्ष के बाज़ार के विकास को आगे बढ़ाया जा रहा है। इसके साथ पावर चाइना के नए व्यवसाय मॉडल को बढ़ावा देने के मूल्य को प्रतिबिंबित भी किया है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी