चीन का विदेशी निवेश कानून पारित

2019-04-08 09:08:00

दक्षिण-पूर्व एशिया के कानूनी विशेषज्ञों, टिप्पणीकारों और व्यापारिक लोगों का विचार है कि विदेशी निवेश कानून पारित किये जाने से दुनिया को चीन के खुलेपन का दृढ़ संकल्प और दिशा दिखायी गयी है। चीन उच्च स्तर के खुलेपन से अर्थव्यवस्था के उच्च गुणवत्ता वाले विकास को बढ़ावा देगा, जिससे विदेशी निवेशकों को और अधिक मौका मिलेगा।

थाईलैंड का कासिकोर्न बैंक थाईलैंड के चार प्रमुख वाणिज्यिक बैंकों में से एक है। 1997 में उसका चीन के बाज़ार में प्रवेश हुआ था। अब तक उसने चीन में चार शाखाओं और दो प्रतिनिधि कार्यालयों की स्थापना की है। इस बैंक के उच्च स्तरीय उपाध्यक्ष विचि किंचोंग चोई लंबे समय से चीन के कारोबार के लिए ज़िम्मेदार हैं। उन्होंने चीन के सुधार और खुलेपन की प्रक्रिया देखी।

उन्होंने कहा कि मैंने व्यक्तिगत रूप से चीन के सुधार और खुलेपन के इस इतिहास का अनुभव किया है। पहले चीन का बाज़ार इतना खुला नहीं था। चीन की खुलेपन नीति एक प्रगतिशील प्रक्रिया है। चीन के कानून विशेषकर विदेशी निवेश कानून में धीरे धीरे सुधार आ रहा है।

जैसा विचि किंचोंग चोईने कहा था चीन का कानूनी व्यवस्था निर्माण घनिष्ठ रूप से सुधार और खुलेपन से जुड़ी है। खुलेपन के क्षेत्र में कानून बनाना विदेशी निवेश कानून से शुरू और विकसित हो रहा है। 1979 की जुलाई में एनपीसी ने पहली खेप के 7 कानून को लागू किया था, जिनमें चीन-विदेशी संयुक्त उद्यम कानून शामिल था, जिससे इसका प्रतीक है कि चीन ने विदेशी निवेश आकर्षित करने के लिए अपना दरवाज़ा खोला था और खुलेपन की नीति को लागू किया था। इसके बाद एनपीसी ने क्रमश;विदेशी उद्यम कानून और चीन-विदेशी सहकारी व्यापार कानून बनाया था। इन तीनों कानून को विदेशी निवेश का तीन कानून कहा जाता था, जिससे चीन के नए किस्म वाले विदेशी निवेश कानून व्यवस्था का बुनियादी ढांचा स्थापित हुआ था।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी