चीन-भारत बौद्ध धर्म सांस्कृतिक फोटो प्रदर्शनी आयोजित

2017-05-22 11:33:54

चीन-भारत बौद्ध धर्म सांस्कृतिक फोटो प्रदर्शनी आयोजित

हाल में चीन-भारत बौद्ध धर्म सांस्कृतिक फोटो प्रदर्शनी का उद्घाटन समारोह और चीन-भारत मैत्री माइक्रो फिल्म का लांच समारोह भारत के कोलकाता में आयोजित हुआ। चीन और भारत से आए राजनीतिज्ञों और कलाकारों ने कहा कि वर्तमान गतिविधि चीन व भारत की मैत्रीपूर्ण आवाजाही में प्रेरणा की भूमिका अदा करती है। 

12 मई की रात को कोलकाता स्थित चीनी जनरल कांसुलेट ने स्थानीय कला संग्रहालय में इस गतिविधि का आयोजन किया। वर्तमान प्रदर्शनी में चीन व भारत के फोटोग्राफरों द्वारा 2016 में चीन के चार बौद्ध धर्म के मशहूर पर्वतों और भारत के बोधगया, ह्वेन त्सांग स्मृति भवन जैसे बौद्ध धर्म से संबंधी दर्शनीय स्थलों के लिए खींचे गए 30 से ज़्यादा श्रेष्ठ तस्वीरों का प्रदर्शन किया गया। इसके अलावा चीनी एक्यूपंक्चर सहित चार माइक्रो फिल्में भी जारी की गयी। कोलकाता स्थित चीनी जनरल कांसुलर मा चानवू, पश्चिम बंगाल की अल्पसंख्यक कमेटी की उप प्रमुख मारिया फर्नांडीस सहित करीब 100 लोगों ने इसमें हिस्सा लिया। 

उद्घाटन समारोह में कोलकाता स्थित चीनी जनरल कांसलर मा चानवू ने संबोधित करते हुए कहा कि चीन व भारत की मैत्री का लम्बा इतिहास है। बौद्ध धर्म और एक्यूपंक्चर की आवाजाही दोनों देशों की जुबान पर रही है। हाल में चीन-भारत सांस्कतिक आदान-प्रदान दिन ब दिन व्यस्त बढ़ रहा है। द्विपक्षीय संबंध तेज विकास के नये चरण में प्रवेश कर रहे हैं। उनके अनुसार, चीन व भारत का समान कल्याण मतभेदों से ज़्यादा है। हम दोनों मिलकर दोनों देशों की जनता के लिए कुछ काम कर सकते हैं और पूरी दुनिया के लिए भी कुछ काम कर सकते हैं। 

भारतीय फोटोग्राफरों को लेकर चीन में फोटो खींचने गयी भारत की मशहूर फोटोग्राफर माला मुखर्जी ने कहा कि वे सात बार चीन की यात्रा कर चुकी हैं। इस बार उन्होंने भारतीय फोटोग्राफरों के साथ फिर एक बार चीन गयी और और ज्यादा दर्शनीय स्थलों को देखा। उनके अनुसार, मेरे साथ चीन जाने वाले अधिकांश भारतीय फोटोग्राफरों ने पहली बार चीन की यात्रा की थी। वे चीन के दर्शनीय स्थलों को बहुत पसंद करते हैं। उन्होंने खुशी से देखा कि चीन बहुत तेज से आगे विकसित हो रहा है। मेरा विचार है कि भारत व चीन के संबंध बहुत अच्छे हैं। हमें इन मैत्रीपूर्ण संबंधों को बरकरार रखना चाहिए। 


चीन-भारत बौद्ध धर्म सांस्कृतिक फोटो प्रदर्शनी आयोजित