भविषय में बाहर शॉपिंग करते समय पर्स या बैंक कार्ड लेने की आवश्यकता नहीं

2017-11-01 10:25:00

भविषय में बाहर शॉपिंग करते समय पर्स या बैंक कार्ड लेने की आवश्यकता नहीं

आजकल भुगतान के अनेक नये तरीके होने लगे हैं। लोग बाहर शॉपिंग करते समय पर्स या बैंक कार्ड लेने की आवश्यकता नहीं है। सिर्फ़ मोबाइल फ़ोन से भुगतान किया जा सकता है। जबकि भविष्य में मोबाइल फ़ोन लाने की भी ज़रूरत नहीं होगी। ब्रिटेन की राजधानी लंदन के एक सुपरमार्केट में ग्राहक सिर्फ़ उँगली की नसों को स्कैन करने से भुगतान कर सकते हैं। इस नयी भुगतान तकनीक का नाम है उंगलियों की नस पहचान। इस तकनीक का पहली बार शॉपिंग करते समय प्रयोग किया जाता है। इस तकनीक का सिद्धांत है कि इन्फ्रारेड का इस्तेमाल करके ग्राहकों की उंगलियों की नसों को स्कैन करने से ग्राहकों की बैंक सूचना भुगतान सेवा के प्रदाता वल्ड-पे के सिस्टम में रखी जाएगी। बाद में ग्राहक सिर्फ़ खाली हाथों से शॉपिंग कर सकेंगे और तीन सैकंडों में इस तरह के तरीके से भुगतान दे सकेंगे।

भविषय में बाहर शॉपिंग करते समय पर्स या बैंक कार्ड लेने की आवश्यकता नहीं

अब ग्राहक लंदन के ब्रूनेल विश्वविद्यालय की कोस्तकतर दुकान में इसी तरीके से भुगतान दे सकते हैं। इस तकनीक का आविष्कार करने वाली कंपनी स्थेलर ने कहा कि अब वे ब्रिटेन के अन्य सूपरमार्केटों से संपर्क कर रहे हैं, ताकि वे भी इस उच्च तकनीक उँगली की नसों के स्कैनरों का प्रयोग भी कर सकें।

लेकिन इससे पहले के अनुसंधान से पता चलाया गया कि मोबाइल पर व्यापक इस्तेमाल करने वाला फ़िंगरप्रिंट मान्यता प्रौद्योगिकी आसानी से हैकर द्वारा प्रहार की जा सकती है, यहां तक कि लोग मोबाइल फ़ोन के स्क्रीन पर फ़िंगरप्रिंट को कॉपी भी कर सकते हैं। लेकिन स्थेलर कंपनी ने कहा कि नसों की पहचान तकनीक सबसे सुरक्षित बॉयोमेट्रिक्स तरीका है, जिसे न तो कॉपी किया जा सकता हैऔर न ही चुराया जा सकता है। इस कंपनी ने कहा कि आजकल अनेक छात्र इस भुगतान सिस्टम का इस्तेमाल करने लगे हैं। अनुमान है कि इस साल के नवम्बर माह तक ब्रूनेल विश्वविद्यालय में करीब 3000 लोग पंजीकृत हो चुके हैं।

स्थेलर कंपनी ने कहा कि यह तकनीक सब से सुरक्षित भुगतान का तरीका है। सिर्फ़ 1 मिनट का खर्चा करके सिस्टम पर पंजीकृत करने के बाद लोग बाद में शॉपिंग करते समय उंगलियों को स्कैन करने से भुगतान दे सकेंगे। भुगतान देने वाला जीवित आदमी होना चाहिए, जबकि मृतकों की उंगलियों को स्कैन नहीं किया जा सकता है।

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी