चीन की सफलता के पीछे तीन प्रमुख शब्द

2018-03-28 09:04:01

चीन की सफलता के पीछे तीन प्रमुख शब्द

2018 की चीन सरकार की कार्य रिपोर्ट में बताया गया कि इस साल चीन और 1 करोड़ से ज्यादा गरीब आबादी को कम करेगा।  1996 में चीन में मनुष्य विकास सूचकांक 0.56 था, जबकि 2015 में यह सूचकांक 0.74 तक बढ़ गया है। इधर के सालों में चीन के विकास में भारी प्रगतियां मिली हैं, जो उच्च मनुष्य विकास स्तर के देशों की सूची में शामिल हो चुका है। पूरी दुनिया चीन की सफलता के प्रति आकर्षित होती है। कई लोगों ने पूछा, आखिर चीन की सफलता के पीछे क्या रहस्य है?हाल में चीन स्थित संयुक्त राष्ट्र संघ के समंव्यक और चीन स्थित संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम के प्रतिनिधि ल्वो शीची के विचार में अनुकूलनशीलता, नवाचार और नेतृत्व चीन की सफलता का रहस्य है। 

अनुकूलनशीलता के क्षेत्र में सामाजिक अर्थतंत्र और पर्यावरण स्थिति के परिवर्तन के साथ चीन निरंतर अपनी विकास दिशा का बंदोबस्त करता रहता है। चीन विभिन्न चरणों में साकार किये गये विकास लक्ष्य बना सकता है और तदनुरुप नीतियां बना सकता है। गरीबी उन्मूलन एक बहुत अच्छी मिसाल है। चीन के तेज़ विकास से गरीब उन्मूलन कार्य की महत्वता निरंतर परिवर्तित होती रहती है। चीन गरीब आबादी पर ज्यादा ध्यान देने के साथ गरीबी की जड़ के मुताबिक और विस्तृत हल के तरीकों की खोज करने की कोशिश कर रहा है।

नवाचार के क्षेत्र में चीन ने कुछ जगहों को चुनकर टेस्ट करने की योजना बनायी। उदाहरण के लिए चीन ने हाल में तीन शहरों में देश के अनवरत विकास कार्यक्रम के नवाचार मिसाल क्षेत्र स्थापित करने की पुष्टि की, जिसका मकसद लोगों को एक नये ढंग वाले विकास फार्मूले का प्लेटफार्म प्रदान करना है।

नेतृत्व के क्षेत्र में अनुकूलनशीलता और नवाचार को साकार करने के लिए चीन को प्रबल नेतृत्व शक्ति और लम्बे अरसे की रणनीतिक विचारधारा की आवश्यक्ता है।चीन का कारगर प्रशासन इससे प्रतिबिंबित होता है। चीन को संसाधन के अच्छे इस्तेमाल के लिए संस्थाओं की स्थापना करने के लिए सक्षम है, ताकि विकास के प्लू प्रींट को सुनिश्चित दे सके। और अहम बात यह है कि स्थानीय स्थिति से मेल खाने वाली ठोस नीतियों का कारगर कार्यान्वयन किया जा सकता है।

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी