छिंग मिंग त्योहार

2018-04-04 17:34:01

छिंग मिंग त्योहार

छिंग मिंग दिवस चीनी चंद्र पंचांग के अनुसार 24 ऋतु विभाजन पाइंटों में से एक है, यह चीनियों के लिए एक प्राचीन परम्परागत त्योहार भी है, जो आम तौर पर साल के तीसरे माह में ( सौर कलेंडर के पांच अप्रेल के आसपास ) पड़ता है। ऋतु के इस समय वसंत का बहार आता है और वायु बहुत स्वच्छ और तरोताज होता है। इसलिए यह उत्सव छिंग मिंग (विशुद्ध स्वच्छ) कहलाता है।

छिंग मिंग उत्सव पर पूर्वजों की समाधि पर जाकर श्रृद्धांजलि अर्पित करने तथा उपनगर में सैर करने तथा पेड़ लगाने की प्रथा भी है। चीन में वृद्धों की भक्ति करने और स्वर्ग वासी पूर्वजों को भक्तिभाव अर्पित करने की परंपरा है। छिंग मिंग उत्सव के दिन, चीनी लोग शहर के बाहर अपने पूर्वजों की समाधि पर श्रद्धा प्रकट करने जाते हैं, वे कब्रों पर उगे जंगली घास निराते हैं, नयी मिट्टी डालते हैं और पूर्वजों की समाधि पर धूपबत्ती व कागजी सिक्के जलाते हैं और व्यंजन चढाते हैं। इस प्रकार के प्रयोजन से वे पूर्वजों को स्मृति देते हैं। इस प्रथा को कब्र को भेंट या कब्र को बुहारना कहलाता है।

छिंग मिंग उत्सव के समय मैदानों में जंगली पौधे अंकुरित होने लगते है, नदी के किनारों पर विलो पेड़ों पर पल्लव निकलते है, हर जगह हरियाली नजर आती है और मौसम बहुत सुहावना होता है। यह बाहर सैर सपाटे का बेहतर वक्त होता है। प्राचीन समय में लोग छिंग मिंग के दिन घूमने के लिए बाहर जाते थे, चीनी में इसे“थाछिंग”कहा जाता है, लोग अपने सिर पर विलो की टहनी पहनते है, कहते हैं कि इससे दैत्य राक्षस को भगाया जा सकता है और आफतों को दूर किया जा सकता है। विलो की टहनी लगाने में शांति और सलामती की मिन्नत होती है।

वर्तमान चीन में मृतकों के अंतिम संस्कार व इन्टरमेंट में भारी परिवर्तन आया है। जमीन में दफ़नाने की जगह दाह संस्कार से ले ली गयी है। इस तरह मैदानों में कब्रों की संख्या कम होती गयी है। लेकिन छिंग मिंग त्योहार में पूर्वजों को श्रृद्धांजलि अर्पित करने और थाछिंग की सैर करने की परम्परागत प्रथा बनी रही है। इसी दिन लोग विभिन्न रूपों और तरीकों में अपने पूर्वजों पर श्रद्धा व्यक्त करते हैं, बाहर जाकर नीले आसमान तले हरेभरे पेड़, घास पौधे और फूलपुष्प की प्रकृति का आनंद उठा लेते हैं।

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी