अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सप्रो क्यों खास है?

2018-08-22 10:05:00

अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सप्रो क्यों खास है?

यदि आप नयी विज्ञान और तकनीक को महसूस करना चाहते हैं, विभिन्न देशों के उपक्रमों के नये उत्पादों के बारे में जानना चाहते हैं, तो इस साल के नवम्बर माह में चीन में आयोजित होने वाले प्रथम चीनी अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सप्रो में आएं। वह आप के लिए दुनिया को देखने वाली खिड़की खोलेगा।

हाल ही में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने ब्रिक्स देशों के उद्योग और वाणिज्य मंच पर घोषणा की कि अभी तक 130 से ज्यादा देशों और क्षेत्रों के करीब 2800 से ज्यादा उद्यमियों ने एक्सप्रो में भाग लेने की पुष्टि की है। अनुमान है कि एक्सप्रो में आए देश विदेश के व्यापारी 1.5 लाख से भी ज्यादा होंगे।

अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सप्रो क्यों खास है?

शायद आप अनेक एक्सप्रो को देख चुके हैं। तो इस आयात एक्सप्रो की क्या खास विशेषताएं हैं?यह एक्सप्रो चीन द्वारा व्यापार के स्वतंत्रीकरण का समर्थन करने, स्वोच्छा से दुनिया के लिए बाज़ार खोलने का अहम कदम है, जो विभिन्न पक्षों द्वारा चीनी बाज़ार में प्रवेश करने के लिए नये प्लेटफार्म की तैयारी कर सके। जैसे कि शी चिनफिंग ने कहा कि यह एक सामान्य एक्सप्रो नहीं है। दुनिया के लिए एक बड़ी अच्छी बात है। आगामी 15 वर्षों में अनुमान है कि चीन 240 खरब अमेरिकी डॉलर के उत्पादों का आयात करेगा और 20 खरब अमेरिकी डॉलर की विदेशी सीधी पूंजी को आकर्षित करेगा। आयात एक्सप्रो के आयोजन से विभिन्न देश चीन के विकास के एक्सप्रेस पर सवारी कर विकास के मौके का एकसाथ उपभोग कर सकेंगे।

आयात एक्सप्रो का आयोजन चीन द्वारा अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को दिया गया समावेशी और साझी उदारता के विकास को आगे बढ़ाने का सार्वजनिक उत्पाद भी है। यहां न सिर्फ़ कार्गो व्यापार है, बल्कि सेवा व्यापार भी है। कारोबारों की प्रदर्शनी के अलावा राष्ट्रीय प्रदर्शनी और मेले भी हैं। मौके पर लोग वैश्विक अहम सवालों पर विचार विमर्श करेंगे। इसलिए कुछ लोगों ने इसे क्वांगचो आयात और निर्यात मेला, विश्व मेला और बोआओ मंच का जोड़ माना। इस जटिल और समग्र प्लेटफार्म के जरिए पृथ्वी के सब लोग आपसी संपर्क कर एकसाथ विकास कर सकेंगे। यह ही आयात एक्सप्रो के आयोजन का प्रारंभिक मकसद है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी