मौसम परिवर्तन से लू से मरने वाले लोगों की संख्या में बढ़ोतरी होने की आशंका

2018-09-07 10:09:01

मौसम परिवर्तन से लू से मरने वाले लोगों की संख्या में बढ़ोतरी होने की आशंका

ब्रिटेन के एक नये अनुसंधान से पता चला है कि यदि लोग मौसम परिवर्तन के निपटारे को मजबूत नहीं करते, तो भविष्य में उष्ण-कटिबंधीय क्षेत्र, उपोष्ण कटिबंधीय क्षेत्र, अमेरिका और यूरोप आदि स्थलों में लू से मरने वाले लोगों की संख्या निरंतर बढ़ती रहेगी।

लंदन विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य और उष्ण कटिबंधीय चिकित्सा अकादमी आदि संस्थाओं के अनुसंधानकर्ताओं ने संयुक्त रूप से एक गणना मॉडल का विकास किया, जिसने 2031 से 2080 के बीच विश्व के 20 देशों में लू से मरने वाले लोगों की संख्या का अनुमान लगाया।

अध्ययन के मुताबिक मौसम परिवर्तन की भीषण स्थिति में 2031 से 2080 के बीच फिलिपींस में लू से मारे गए लोगों की संख्या हालिया स्तर के करीब 12 गुनी होगी। ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका में संबंधित मृतकों की संख्या संभवतः 5 गुनी होगी, जबकि ब्रिटेन में संबंधित मृतकों की संख्या 4 गुनी होगी।

लेकिन अध्ययन ने यह भी बताया कि यदि विभिन्न देश मौसम परिवर्तन के पेरिस समझौते का पालन करते हुए ग्रीन हाउस गैस की निकासी को कम करते हैं, तो मृतकों की संख्या में भारी गिरावट आएगी।

अनुसंधानकर्ताओं ने सुझाव पेश किया कि लू से प्रभावित होने वाले देश कम्युनिटी की बुनियादी संरचनाओं के निर्माण, वातावरण प्रबंध और सार्वजनिक स्वास्थ्य नीति आदि क्षेत्र में तैयारी को मज़बूत कर सकते हैं, ताकि भीषण मौसम घटनाओं के असर को कम कर सकें।

 

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी