विदेशों में पढ़ने के बाद वापस लौटने वाले लोग चीन के आर्थिक व सामाजिक विकास के लिए और महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेंगे

2018-09-27 10:05:00

विदेशों में पढ़ने के बाद वापस लौटने वाले लोग चीन के आर्थिक व सामाजिक विकास के लिए और महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेंगे

चीन में तेज़ आर्थिक व सामाजिक विकास और वैश्विकरण में भागीदारी के साथ विदेशों में पढ़ने के बाद वापस लौटने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ती रही है। वैश्विक थिंक टैंक और ZHAOPIN.COM द्वारा हाल में जारी एक जांच रिपोर्ट से जाहिर है कि अंतर्राष्ट्रीय परिस्थिति के दिन ब दिन जटिल होने के नाते विदेशों में पढ़ने के बाद वापस लौटने वाले लोग चीन के आर्थिक व सामाजिक विकास में और बड़ी भूमिका अदा करेंगे।

चीनी शिक्षा मंत्रालय से मिले आंकड़े बताते हैं कि चीन में सुधार व खुलेपन की नीति के लागू होने के पिछले 40 सालों में विदेशों में पढ़ाई के बाद वापस लौटने वाले लोगों की संख्या 51.9 लाख तक पहुंची हैं, जिन में 60 प्रतिशत के लोगों  ने स्वदेश में काम करने का संकल्प लिया। 2002 में अमेरिका में मास्टर डिग्री पढ़ने वाले छन श्वेईमिंग सिलिकॉन घाटी की एक मशहूर परामर्श कंपनी में कार्यरत थे। इस साल उन्होंने स्वदेश वापस लौटकर काम करने का निर्णय लिया। इस का कारण बताते हुए छन ने कहा कि आज चीन वैश्वीकरण की प्रक्रिया का नेतृत्व कर रहा है। इसलिए उन के लिए ज्यादा मौके होंगे। उन के मुताबिक, एक तरफ़, मुझे इसे भूमंडलीकरण की प्रवृत्ति महसूस हुई है। चीन का विकास वैश्विक रूप लेने लगा है। पहले चीन ने पश्चिमी देशों की समुन्नत चीज़ों से सीखा, लेकिन आज चीन सच्चे माइने में भूमंडलीकरण की ओर पढ़ रहा है। चीन न सिर्फ सीखता है, बल्कि नेतृत्व भी करता है। मुझे विश्वास है कि मेरे जैसे विद्यार्थियों की चीन की संस्कृति और पश्चिम संस्कृति के बारे में कुछ जानकारियां होती हैं। साथ ही हमारे पास कुछ तकनीक और प्रबंध के अनुभव भी हैं। इसलिए हम सीधे रूप से देश के सधार में भाग ले सकते हैं और और अर्थवान व प्रभावी कार्य कर सकते हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी