ट्रम्पः अमेरिका जन्म नागरिकता रद्द करेगा

2018-12-12 10:02:00

ट्रम्पः अमेरिका जन्म नागरिकता रद्द करेगा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने हाल में मीडिया के साथ साक्षात्कार में कहा कि वे जन्म नागरिकता की नीति को रद्द करेंगे। यह इस का मतलब है कि यदि गैर अमेरिकी नागरिक और गैरकानूनी आप्रवासी अमेरिका में बच्चों को जन्म देते हैं, तो बच्चों को जन्म नागरिकता का अधिकार नहीं होगा। ट्रम्प ने वकील को यह विचार प्रकट किया, लेकिन अमेरिका नागरिक और आप्रवासी ब्यूरो के सर्वप्रथम वकील लिनदेन मेलमेद ने कहा कि उन का मानना है कि राष्ट्रपति को जन्म नागरिकता अधिकार को बदलने का हक नहीं है।

गौरतलब है कि सत्ता पर आने के बाद ट्रम्प सरकार ने आप्रवासी नीति को सख्त बनाने के लिए सिलसिलेवार आदेश या आज्ञा दी। लेकिन यह कदम संभवतः सब से सख्त कदम माना जाता है।

अमेरिका विश्व में सब से ढीली नागरिकता सिस्टम होने वाले देशों में से एक है। जो शिशु अमेरिका में जन्म लेता है, तो वह स्वतः अमेरिकी नागरिक बन जाता है और तदनुरूप सामाजिक कल्याण का लाभ उठाता है। जबकि उस के मां-बाप की नागरिकता पर ख्याल करने की आवश्यक्ता नहीं है। इसलिए अनेक गैर आप्रवासी लोग अमेरिका आकर बच्चों को जन्म देते हैं। उन का मकसद है कि बच्चे का सही ढंग से अमेरिकी नागरिकता पाना होता है। आंकड़े बताते हैं कि 2014 में अमेरिका में जन्म 40 लाख शिशुओं में से 7 प्रतिशत यानी 2.75 लाख लोगों के मां-बाप गैर आप्रवासी थे।

लेकिन ट्रम्प द्वारा सीधे संविधान संशोधन प्रस्ताव से इस नीति को बदलने की संभावना बहुत कम है। कारण यह है कि संविधान संशोधन करने के लिए दो तिहाई सांसदों के समर्थन की आवश्यक्ता होगी। यह बहुत कठिन बात होगी। अपूर्ण आंकड़े बताते हैं कि अमेरिका में संविधान के प्रभावी होने के पिछले 200 से अधिक सालों में कांग्रेस ने 11000 संविधान संशोधन प्रस्तावों को पेश किया, फिर अंततः सिर्फ 27 प्रभावी हो सके।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी