अमेरिका के प्रतिबंध से ईरान के पास खुद का ऐप स्टोर

2019-01-10 10:03:00

अमेरिका के प्रतिबंध से ईरान के पास खुद का ऐप स्टोर

अमेरिकी प्रतिबंध की वजह से ईरान के हजारों मोबाइल फोन के उपयोगकर्ता लम्बे अरसे से सामान्य रूप से गूगल प्ले, एपल स्टॉर आदि अंतर्राष्ट्रीय प्रमुख ऐप की सेवा का इस्तेमाल नहीं कर पाते। इस से ईरानी इंटरनेट कर्मचारियों ने खुद ऐप स्टोर का विकास किया। केफे बाजार इन में से सब से बड़ा ऐप स्टोर है।

उत्तरी तेहरान स्थित एक 6 मंजिली नयी इमारत में केफे बाजार के सीईओ अमिन अमिरशरिफी और उन की प्रबंध टीम ने हाल में सीआरआई को इंटरव्यू दिया। अमिन ने कहा कि केफे बाजार की स्थापना अमेरिका के प्रतिबंध से प्रत्यक्ष संबंध है।

उन्होंने कहा कि सात साल पहले ईरानी मोबाइल उपयोगकर्ताओं के गूगल और प्ले स्टोर का इस्तेमाल न करने की समस्या का हल करने के लिए ईरान के शरीफ प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के पाँच विद्यार्थियों ने केफे बाजार की स्थापना की, जो खास तौर पर स्थानीय मोबाइल उपयोगकर्ताओं को ऐप डॉनलोड सेवा देता है। आज केफे बाजार ईरान का प्रमुख ऐप स्टोर बन चुका है, जिस की बाजार दर 85 प्रतिशत तक पहुंची है। अमिन के मुताबिक, पहले संस्करण के केफे बाजार में सिर्फ गूगल से आए कई मुफ्त विदेशी मोबाइल ऐप थे। उस समय अमेरिका के प्रतिबंध से गुगल और प्ले स्टॉर ईरान के उपयोगकर्ताओं को सेवा नहीं दे सकते थे, इसलिए गूगल ने भी इस समस्या का हल नहीं किया। इसलिए ईरान के शरीफ प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से आए 5 विद्यार्थियों ने केफे बाजार ऐप स्टोर की स्थापना करनी शुरू की। उन्होंने फ़ारसी नव वर्ष के पहले दिन में इस प्लेटफार्म का प्रचलन शुरू किया। शुरू में केफे बाजार के उपयोगकर्ताओं की संख्या में वृद्धि उपयोगकर्ताओं द्वारा अपने मित्रों के बीच सिफारिश करने के जरिए हुई थी, फिर इस का तेज़ विकास हुआ। अब हमारे पास 3.7 करोड़ डॉउनलोड हैं और हर महीने 2.9 करोड़ जीवित उपयोगकर्ता हैं। हमारे ऐप स्टोर में 1.8 लाख से ज्यादा ऐप हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी