शीतकालीन खेल का सबसे बड़ा देश बनेगा चीन

2019-01-17 10:03:00

शीतकालीन खेल का सबसे बड़ा देश बनेगा चीन

जब पेइचिंग को 2022 शीतकालीन ओलंपिक खेल समारोह का मेजबान शहर नियुक्त देते समय चीन ने एक रोडमैप बनाया। यानी 2022 तक चीन में 30 करोड़ लोग शीतकालीन खेल के प्रेमी बनेंगे। यह एक महान योजना है। चीनियों को जानने वाले लोग साफ साफ जानते हैं कि वे लोग इस संख्या से नहीं डरते हैं।

योजना के अनुसार 2022 तक चीन 800 से अधिक शीतकालीन खेल अड्डों और 600 आइस रिंगों का निर्माण करेगा। चीन विश्व में सब से ज्य़ादा आइस रिंग होने वाला देश है। साथ ही चीन में आइस रिंग की गुणवत्ता की उन्नति भी होती रही है। इधर के सालों में हर साल एक नया आइस रिंग खुला है। पेइचिंग शीतकालीन ओलंपिक के मेजबान शहर होने के नाते हपेई प्रांत का छोंगली में हाल में विविधतापूर्ण स्केटिंग उपकरणों और होटलों का निर्माण किया जा रहा है। छोंगली बिलकुल एक संयुक्त राष्ट्र संघ बन चुका है। यहां आइस बनाने वाले उपकरण इटली से आयातित हैं, स्केटिंग कोर्च औस्ट्रिया, फ्रांस और कानाडा आदि क्षेत्रों से आये हैं।

चीनियों के लिए स्कीइंग एक ठोस जीवन तरीका है। इसलिए चीन का स्कीइंग दर्शनीय स्थल स्कीइंग के अलावा बाकी गतिविधियों पर खास ध्यान देता है। उदाहरण के लिए फैशनबल रेस्तरां या कारा ओके आदि भी उपलब्ध हैं।

यदि 30 करोड़ चीनी लोग शीतकालीन खेल के प्रेमी बनते हैं, तो बड़े हद तक अंतर्राष्ट्रीय शीतकालीन खेल के बाजार को बदलेगा। स्कीइंग चीनी बच्चों का एक अनिर्वार्य कोर्स बनेगा। हाल में विश्व में करीब 13 करोड़ स्कीयर हैं, भविष्य में चीनियों के शामिल होने से यह संख्या दोगुनी होगी। वैश्विक शीतकालीन खेल की स्थिति बुनियादी तौर पर परिवर्तित की जाएगी।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी