छुंगछिंग शहर के हुंगया तुंग का दौरा

2019-10-09 09:05:00

दक्षिण पश्चिम चीन स्थित छुंगछिंग शहर अपनी विशेष भू सूरत पहाड़ी शहर के नाम से जाना जाता है, जिससे साल भर अंगिनत देशी विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर खिंचा जाता है। चीन की प्रसिद्ध प्रथम नदी यांत्ज़ी नदी और चालिन नदी इसी शहर से चीरकर आगे बह जाती हैं और इन दोनों नदियों का संगम भी यहां पर मिलता है। इतना ही नहीं, उक्त दोनों नदियों ने छुंगछिंग शहर को चार तटों में विभाजित भी कर दिया है। अतीत के हजारों सालों में इन चार तटों पर लकड़ियों से तैयार काष्ठ मकान कतारों में दिखायी देते हैं। स्थानीय लोग इन मकानों को झुलती इमारत कहते हैं, जिन में हुंगया तुंग क्षेत्र में खड़ा हुआ झुलती इमारत समूह सब से उल्लेखनीय है और वह छुंगछिंग शहर में घाटी संस्कृति का एक जीवंत जीवाश्म कहा जा सकता है।

हुंगया तुंग की झुलती इमारत समूह पहाड़ से सटकर निर्मित हुआ है। इमारतों की समूची वास्तु शैलियां इतनी सरल व अनूठी हैं कि प्राचीन इमारतों को और आधुनिक वास्तु शैलियों से जोड़ा जाता है।

हुंगया तुंग झुलती इमारत समूह यांत्ज़ी नदी व चा लिन नदियों के संगम स्थित छाओ थ्येन मन क्षेत्र और चा लिन नदी के तट के पिन च्यांग रोड पर है। समूचे झुलती इमारत समूह की लम्बाई 600 मीटर है और सभी झुलती इमारतें ऊबड़ प्राकृतिक पहाड़ी सूरतों के अनुसार 11 मंजिलों पर नजर आती हैं, सब से ऊंचे स्थान व नीचले स्थान पर निर्मित इमारतों के बीच का अंतर 75 मीटर है। स्थानीय वासियों ने इन अर्द्ध आकाश रूपी प्राचीन सड़कें भी निर्मित की हैं। उन में से एक जमीन से 30 मीटर और अन्य एक जमीन से 47 मीटर दूर है। कहा जाता है कि वर्तमान दुनिया के सभी निर्मित इमारत समूहों में उस का विशेष स्थान बना लेता है। और तो और इन इमारतों पर सुन्दर डिजाइनों का सूक्ष्म रूप से चित्रण किया गया है। इस अद्धुत दृश्य को देखकर पर्यटक दांतों तले उँगली दबाये बिना नहीं रह सकते।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी