प्रो. च्यांग चिंगख्वेई समेत 26 विद्वानों को केंद्रीय हिंदी संस्थान का प्रतिष्ठित पुरस्कार

2018-04-19 11:19:05

हिंदी के क्षेत्र में विशेष योगदान के लिए 26 विद्वानों के नामों का ऐलान कर दिया गया है। जिसमें चीनी प्रोफेसर च्यांग चिंगख्वेई और मॉरीशस के सत्येंद्र टेंगर का नाम भी शामिल हैं। उक्त दोनों विद्वानों को डॉ. जॉर्ज ग्रियर्सन पुरस्कार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा दिल्ली में दिया जाएगा। विदेशी हिंदी विद्वानों को विदेश में हिंदी के प्रचार-प्रसार और लेखन में उल्लेखनीय योगदान के लिए यह अवार्ड दिया जाता है। यहां बता दें कि केंद्रीय हिंदी संस्थान, आगरा की हिंदी सेवी सम्मान योजना के अंतर्गत साल 2016 के लिए 12 श्रेणियों में पुरस्कार देने की घोषणा हुई है। जिसके तहत पांच लाख रुपए की राशि भी प्रदान की जाएगी। संस्थान के निदेशक प्रोफेसर नंद किशोर पांडे ने अवार्ड पाने वाले सभी विद्वानों की सूची जारी की।

हिंदी के प्रमुख हस्ताक्षर प्रो. च्यांग चिंगख्वेई को पुरस्कार दिए जाने की घोषणा से चीन में हिंदी सीख रहे छात्रों और हिंदी के अध्यापन कार्य से जुड़े शिक्षकों में खुशी की लहर दौड़ गई है। चीन में भारतीय दूतावास और काउंसलेट, शांगहाई इंटरनेशनल स्टडीज यूनिवर्सिटी में विजिटिंग प्रोफेसर नवीन चंद्र लोहनी, पेकिंग विश्वविद्यालय में हिंदी के प्रोफेसर के.एन.तिवारी, बीजिंग विदेशी भाषा विश्वविद्यालय के डॉ. बलबीर सिंह, शनचन विश्वविद्यालय की गीता शर्मा, विदेशी अध्ययन विश्वविद्यालय ग्वांगतोंग, क्वांगचो की किरण वालिया, शांगहाई विश्वविद्यालय में राजनीति शास्त्र के प्राध्यापक राजीव रंजन, चीन में लंबे समय से रह रहे और चीनी भाषा के जानकार विकाश सिंह आदि ने उन्हें बधाई दी है।

हिंदी की सेवा का फल है यह अवार्डः प्रो. च्यांग चिंगख्वेई

प्रो. च्यांग चिंगख्वेई समेत 26 विद्वानों को केंद्रीय हिंदी संस्थान का प्रतिष्ठित पुरस्कार

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी