ली खछ्यांग ने चीन-जापान शांति व मित्रता संधि की 40वीं वर्षगांठ की गतिविधि में भाग लिया

2018-05-11 15:40:01

स्थानीय समयानुसार 10 मई को चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने टोक्यो में जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ चीन-जापान शांति व मित्रता संधि की 40वीं वर्षगांठ मनाये जाने की गतिविधि, और सत्कार समारोह में भाग लिया और भाषण दिया। चीन व जापान के राजनयिक व आर्थिक जगतों व गैर-सरकारी मैत्रीपूर्ण व्यक्तियों समेत लगभग दो हजार लोगों ने इसमें भाग लिया।

ली खछ्यांग ने कहा कि इस वर्ष चीन व जापान के बीच शांति व मित्रता संधि पर हस्ताक्षर करने की 40वीं वर्षगांठ ही है। संधि ने कानून के तरीके से चीन-जापान संयुक्त बयान की विभिन्न नीति-नियमों की पुष्टि की। इस में ऐसे विषय शामिल हुए हैं कि जापान को युद्ध में अपनी गलतियों का आत्मनिरीक्षण गहन रूप से करना चाहिये, और एक चीन की नीति पर कायम रहना चाहिये। साथ ही इसकी घोषणा की गयी कि चीन व जापान दोनों देशों को चिरस्थाई मित्रता बरकरार रखनी चाहिये। इस संधि ने चीन-जापान संबंधों के लिये राजनीतिक आधार व कानूनी मापदंड तैयार किया, और सही दिशा भी दिखायी। चीन-जापान के चार राजनीतिक दस्तावेज चीन-जापान संबंधों के स्वस्थ विकास का मार्गदर्शन है। अगर दोनों पक्ष हमेशा से उन चार दस्तावेजों का पालन करते रहेंगे, तो चीन-जापान संबंध ज़रूर स्थिरता से आगे विकसित हो सकेंगे।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी