स्वस्थ और स्थिर चीन-भारत संबंध एससीओ के विकास को बढ़ाएगाः भारत स्थित चीनी राजदूत

2018-06-07 16:34:00

स्वस्थ और स्थिर चीन-भारत संबंध एससीओ के विकास को बढ़ाएगाः भारत स्थित चीनी राजदूत

शांगहाई सहयोग संगठन(एससीओ) शिखर बैठक 9 से 10 जून को चीन के छिंगताओ शहर में आयोजित होगी। यह एससीओ के विस्तार के बाद पहली शिखर बैठक होगी। भारत स्थित चीनी राजदूत लुओ चोहुइ ने हाल ही में सीआरआई को दिये एक इंटरव्यू में कहा कि एससीओ में भारत और पाकितान की भागीदारी का बड़ा महत्व है। स्वस्थ और स्थिर चीन-भारत संबंध एससीओ के विकास को बढ़ाएगा।

लुओ चोहुइ ने बताया कि एससीओ के विस्तार से इस संगठन के विकास को नयी शक्ति मिलेगी। उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान की भागीदारी से एससीओ का दायरा दक्षिण एशिया तक पहुंचा है। बड़ी आबादी, विशाल दायरे, प्रचुर संसाधन और विशाल बाज़ार से एससीओ का भविष्य उज्जवल होगा। विभिन्न सदस्य देशों के सहयोग का मौका बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा कि एससीओ के ढांचे में चीन भारत के साथ प्रभावी सहयोग करने की प्रतीक्षा करता है। इस मंच के तहत चीन और भारत बहुत काम कर सकते हैं। पहला, एक साथ शांगहाई भावना का प्रचार कर एससीओ के साझे भविष्य का निर्माण करना। दूसरा, पारस्परिक राजनीतिक विश्वास बढ़ाना। भारत द्वारा एससीओ के सदस्य देशों के बीच दीर्घकालिक मित्रवत सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर करने का मौका पकड़कर द्विपक्षीय अच्छे पड़ोसी की तरह सहयोग समझौते पर विचार किया जा सकता है। तीसरा, सुरक्षा सहयोग मज़बूत करना है। चौथा, पारस्परिक संपर्क बढ़ाना है।

लुओ चोहुइ ने बताया कि वर्तमान में चीन-भारत संबंध की आम स्थिति सकारात्मक और अच्छी है। द्विपक्षीय संबंध और बहुपक्षीय, क्षेत्रीय सहयोग एक दूसरे को बढ़ा सकता है।

(वेइतुंग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी