व्यापार युद्ध में रियायत देने वालों को चोट पहुंचायी जाएगी

2018-07-09 19:40:59

जुलाई महीने में दूसरे देशों ने अमेरिकी सरकार द्वारा छेड़े गये व्यापार युद्ध का सामना करना शुरू किया। कनाडा, मेक्सिको, रूस और चीन आदि ने अमेरिका के मालों को अतिरिक्त कर वसुलना शुरू किया।

व्यापार युद्ध का विस्तार किया जा रहा है। इसी स्थिति में उन देशों, जो अमेरिका के प्रति रियायत की नीति अपनाते हैं, खुद नुकसान खाने का खतरे का सामना करना पड़ेगा। अमेरिका ने व्यापार युद्ध छेड़ा है। इस के विरूद्ध कनाडा, मेक्सिको और चीन ने अमेरिका के खिलाफ समान पैमाने वाला जवाबी कदम उठाया है। अभी तक इन देशों ने अमेरिका के 75 अरब अमेरिकी डालर वाले मालों के प्रति विशेष कर वसुलना शुरू किया है।

चीन के स्टेट कौंसुलर व विदेश मंत्री वांग यी ने 5 जुलाई को ऑस्ट्रिया में कहा कि चीन न सिर्फ अपने हितों के लिए, बल्कि दूसरे देशों के समान हितों के लिए भी व्यापारिक संरक्षणवाद का विरोध कर रहा है। जब चीन संरक्षणवाद के विरूद्ध युद्ध कर रहा है, तो उस की यही आशा है कि कोई पीछे से वार न करे।

वैश्वीकरण की पृष्ठभूमि में जब किसी ने व्यापार युद्ध छेड़ा, तब दूसरे पक्षों को समान कर्तव्य के सिद्धांत से एकतरफावाद और संरक्षणवाद का मुकाबला करने का प्रयास करना चाहिये।

( हूमिन )

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी