टिपण्णीः जर्मन मोटर गाड़ी ट्रम्प की टैरिफ नीति का पहला शिकार बनी

2018-08-07 14:16:06

टिपण्णीः जर्मन मोटर गाड़ी ट्रम्प की टैरिफ नीति का पहला शिकार बनी

अमेरिकी ट्रम्प सरकार द्वारा छेड़े गये ट्रेड वॉर का पहला शिकार गिरा। जर्मन मोटर गाड़ी ट्रम्प की टैरिफ नीति का पहला शिकार बनी।

30 जुलाई को जर्मन बीएमडब्ल्यू कार कंपनी ने अमेरिका में उत्पादित दो किस्मों की एसयूवी के चीन में बिक्री के दाम को अलग अलग तौर पर 4 फीसदी और 7 फीसदी बढ़ाया गया। ट्रम्प सरकार द्वारा अनेक देशों के खिलाफ ट्रेड वॉर करने के बाद अमेरिका द्वारा बनायी गयी बीएमडब्ल्यू कार के उपकरणों के दाम में वृद्धि हुई है। खर्चे बढ़ने से गाड़ी के दामों में भी वृद्धि हुई है। साथ ही चीन ने 6 जुलाई से अमेरिका से आयातित मोटर गाड़ियों पर 15 प्रतिशत के बुनियादी टैरिफ पर और 25 टैरिफ लगाने का निर्णय किया। यह इस बात का द्योतक है कि भविष्य में चीन द्वारा अमेरिका से आयातित गाड़ियों का बाज़ार क्यूटो उच्च दाम की वजह से कम किया जाएगा।

टिपण्णीः जर्मन मोटर गाड़ी ट्रम्प की टैरिफ नीति का पहला शिकार बनी

व्हाइट हाऊस द्वारा अपने मुख्य व्यापारी साझेदारों पर इस्पात और एल्यूमीनियम की टैरिफ बढ़ाने की नीति लागू होने के बाद कई लोगों ने विश्लेषण किया कि मोटर गाड़ी और विद्युत उत्पादक संभवतः ट्रेड वॉर का पहला शिकार बनेंगी। अमेरिकी ऑटोमोटिव न्यूज़ द्वारा इस जून माह में जारी आंकड़े बताते हैं कि 2018 में विश्व की सबसे बड़ी सौ मोटर गाड़ियों के उपकरणों की कंपनियां जर्मनी, जापान, कानाडा, स्पेन, दक्षिण कोरिया, मैक्सिको और चीन समेत 17 देशों से आयी हैं। हरेक गाड़ी में उपकरण दस हज़ार हो सकते हैं, इसलिए मोटर गाड़ी बनाने के लिए विभिन्न देशों की कंपनियों में सहयोग होने की जरूरत है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी