टिप्पणीः लोगों में गहरी निराशा लाती है अमेरिकी व्यापारिक प्रतिनिधि दफ्तर की सुनवाई बैठक

2018-08-29 19:49:00

टिप्पणीः लोगों में गहरी निराशा लाती है अमेरिकी व्यापारिक प्रतिनिधि दफ्तर की सुनवाई बैठक

22 अगस्त को अमेरिकी लॉन मॉवर कंपनी के निदेशक माइकल कर्सी ने अमेरिका सरकार द्वारा 2 खरब अमेरिकी डॉलर मूल्य वाले चीनी उत्पादों पर टैरिफ बढ़ाने की एक सुनवाई मीटिंग पर भाषण देते हुए कहा कि यदि लोग यकीन करते हैं कि घास काटने की मशीन पर टैरिफ बढ़ाने से अमेरिका के निर्माण उद्योग या अमेरिका के रोजगार को मदद दी जा सकती है। तो यह कार्यवाही मानों वाहन का पीछा कर अभी अभी रोलिंग करने वाले कुत्ते की रिहाई करने की तरह है। कर्सी ने अधिकांश अमेरिकियों के मन की आवाज़ सुनायी है। उन्होंने अमेरिका सरकार से सावधानी से निर्णय लेकर अमेरिकी उपभोक्ताओं और उद्यमों के हितों का पूरा ख्याल करने की अपील की। वैश्विक आर्थिक विकास और स्वतंत्र व्यापार विकास पर ध्यान देने वाले लोगों के लिए सुनवाई बैठक के प्रति लोगों को गहरी निराशा की भावना एहसास हुआ है।

सुनवाई मीटिंग पर सवाल जवाब हमेशा ही सप्लाई चेन को बदलने पर केंद्रित रहा है, जिस का कोई मतलब नहीं है। सुनवाई मीटिंग छह दिनों तक बढ़ायी गयी। कुल 300 उपक्रमों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। क्या चीन के अलावा और कुछ अन्य सप्लाई चेन है? क्यों चीन के व्यवसाय को वियतनाम में स्थानांतरित नहीं करते हैं? --- ये सब से ज्यादा चर्चित सवाल हैं।

हाल में विश्व व्यापार में वैश्विक सप्लाई चेन का अनुपात करीब 80 प्रतिशत है। चीन वैश्विक सप्लाई चेन का केंद्र बन चुका है। अमेरिका में छोटे शॉपिंग बैग से मशीनों तक सब वैश्विक सप्लाई चेन के उत्पाद हैं। जैसे सुनवाई मीटिंग पर एक मशहूर अमेरिकी लॉन मॉवर कंपनी ने कहा कि अमेरिका में घरेलू सप्लाई के निरंतर कम होने की वजह से उन की कंपनी को विवश होकर 2015 में सभी उत्पादन को चीन में स्थानांतरित करना पड़ा। यह अमेरिकी उपभोक्ताओं का विकल्प है। सस्ते और अच्छी गुणवत्ता वाले चीनी उत्पाद अमेरिकी मध्यम वर्ग के लोगों के सुखमय जीवन को सुनिश्चित करते हैं। विश्व व्यापार संगठन के प्रमुख संस्थापक सदस्य देश होने के नाते अमेरिका ने डब्ल्यूडीओ के समक्ष नम्बर 301 धारा का इस्तेमाल करने का वचन दिया था। लेकिन अब अमेरिका अपने घरेलू कानून के मुताबिक एकतरफा व्यापारी नियंत्रण का कदम उठाते समय चीन की आलोचना भी करता कि चीन द्वारा अमेरिका के 50 अरब अमेरिकी डॉलर मूल्य वाले उत्पादों पर टैरिफ बढ़ाने का कदम कानून का उल्लंघन है। साथ ही अमेरिका ने इस के बहाने से 2 खरब अमेरिकी डॉलर मूल्य वाले चीनी उत्पादों पर टैरिफ बढ़ाने का निर्णय लिया।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी