मेले में भारत की मौजूदगी

2018-11-07 10:26:01

वहीं श्रीनगर के उमर भी अपने पारंपरिक कालीन, शॉल, स्कार्फ़, फैरन और वॉल डेकोरेशन लेकर इस मेले में मौजूद रहे, जिनके स्टाल पर बहुत ज्यादा लोगों की आमद दिखाई दी। उमर ने हमें बताया कि उनका ये खुद का व्यापार है और वो शनचन में अपने ऑफिस से चीन में कश्मीर के शॉल और कालीनों को बेचते हैं। पहले चीन अंतर्राष्ट्रीय आयात मेले से उमर भी बहुत उत्साहित दिखाई दिये। उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर उनका व्यापार इस मेले में आने के बाद और बढ़ेगा।

कुल मिलाकर कहा जाए तो मेले का माहौल देखकर ऐसा लगता है कि चीन ने एक ऐसा आधार तैयार किया है, जो दुनिया भर के व्यापारियों के लिये एक वरदान साबित होगा, और इनके व्यापार को एक नया आयाम और बाज़ार मिलेगा।

पंकज श्रीवास्तव

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी