चीन : ख़ास से आम बना केएफसी

2018-12-19 11:33:00

अगर किसी देश के सतत विकास की बात की जाए, तो सबसे पहले नाम चीन का ही आता है। पिछले 40 सालों में चीन ने तेज रफ्तार से विकास किया है, जिसे चीनी लोगों के अलावा, चीन में रह रहे विदेशी लोग भी मानते हैं। सुधार और खुलेपन के 40 सालों में चीनी लोगों के जन जीवन में लगातार सुधार हो रहा है और देश का आर्थिक ढांचा लगातार उन्नत हो रहा है।

अभी कुछ दिनों पहले मैं अपने एक चीनी दोस्त श्याओ वांग से मिला। वो चीन की एक आईटी कंपनी में काम करता है। हमने पेइचिंग के छियानमन क्षेत्र में मिलने की योजना बनाई। छियानमन पेइचिंग शहर के केंद्र में स्थित है, और काफी सुंदर है, जिसे पेरिस का चैम्प-एलीसिस भी कहा जाता है। थियनआनमन चौक के दक्षिण में छियानमन में सांस्कृतिक गलियां और दुकानें देखने को मिल जाएंगी। मस्ती-मजा या घूमने के लिहाज से छियानमन काफी अच्छी जगह है।

जब हम वहां मिले तो श्याओ वांग ने वहां केएफसी में खाना खाने का सुझाव दिया। शुरू में मुझे थोड़ा अचंभा हुआ कि हम इतनी बढ़िया जगह आए हैं, यहां का सारा माहौल सांस्कृतिक जैसा है, हॉटपोट या कोई अन्य पारंपरिक चीनी खाना खाने के बजाय केएफसी जाने की क्या तुक। खैर, मैंने हामी भरी और केएफसी की तरफ चल दिये। मुझे लगा कि वह अपना खर्चा बचाना चाह रहा है, इसलिए केएफसी चलने को कह रहा है।

श्याओ वांग और मैं करीब एक साल बाद मिल रहे थे, इसलिए दिसंबर की कंपकपाती ठंड में भी पुरे रास्ते भर हम बातें करते चलें। श्याओ वांग ने मुझे बताया कि हालांकि केएफसी चीन के हर शहर, हर जिले में है, लेकिन इस बार मुझे केएफसी लाने का एक खास मकसद है। वह अपनी पुरानी यादें तरोताजा करना चाह रहा है, जब वह 30 साल पहले अपने पापा के साथ पहली बार यहां आया था।

छियानमन का केएफसी शहर के अन्य केएफसी जैसा ही था। फर्क बस इतना था कि प्रवेश द्वार पर एक बड़ा-सा लकड़ी का बोर्ड था, जिसपर 12 नवम्बर 1987 लिखा था। इसके अलावा एक तरफ अंग्रेजी और चीनी दोनों भाषाओं में लिखा था- “चीन का पहला स्टोर”, तो दूसरी तरफ अंतर्राष्ट्रीय चेन के फाउंडर कर्नल हारलैंड सैंडर्स की तस्वीर लगी थी। इसे पढ़कर मुझे समझ आया कि वाकई श्याओ वांग मुझे एक खास जगह लेकर आया है। हम अंदर गये तो देखा सबकुछ वैसा ही था, जैसा आमतौर पर केएफसी स्टोर में होता है। उसी तरह की मेज-कुर्सियां, लोगों से भरा शोर-शराबे वाला माहौल आदि।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी