शी चिनफिंग की आम लोगों के बीच में कहानी 2 --- गरीब लोग शी की सबसे बड़ी चिंता

2019-02-06 06:34:00

शी चिनफिंग की आम लोगों के बीच में कहानी 2 --- गरीब लोग शी की सबसे बड़ी चिंता

“पेट भर खा सकते हैं ?पर्याप्त चावल उपलब्ध ?पर्याप्त है। जेब में पैसा है ?आमदनी कैसी है ?सुअर या बकरा पालते हैं?दो सुअर।”

शी चिनफिंग की आम लोगों के बीच में कहानी 2 --- गरीब लोग शी की सबसे बड़ी चिंता

चीन सरकार द्वारा घोषित ग्रामीण क्षेत्रों का गरीबी मानक प्रतिव्यक्ति प्रतिसाल 2300 युआन है ।एक हजार से कम आबादी होने के कारण इस पहाड़ी गांव में वर्ष 2013 में प्रति व्यक्ति सालाना शुद्ध आय 1700 युआन से कम थी ,जो देश में प्रति किसान की औसत सालाना आय की 20 प्रतिशत से कम थी ।शी चिनफिंग ने शीपातुंग गांव में पहली बार लक्षित गरीबी उन्मूलन का विचार पेश किया ।उन्होंने व्यावहारिक कार्यशैली पर बल देते हुए विभिन्न स्थानों की ठोस स्थिति के आधार पर अलग अलग निर्देशन करने की मांग की । लक्षित गरीबी उन्मूलन कार्य चालू करने के बाद शीपातुंग गांव ने पाँच व्यवसायों का विकास तय किया यानी लेबर सेवा, स्थान विशेष रोपण ,स्थान विशेष पशुपालन ,म्याओ जाति की परंपरागत कढ़ाई और पर्यटन सेवा । वर्ष 2017 में शीपातुंग गांव ने की चपेट से छुटकारा पाया और अन्य क्षेत्रों के लिए लक्षित गरीबी-उन्मूलन मॉडल भी प्रदान किया ।गरीबी दूर करने के साथ साथ गांव में कई अविवाहित पुरुषों ने विवाह किया ।शी छीवन और उनकी पत्नी का जीवन भी बदल गया ।

जून 2017 में शी चिनफिंग ने शानशी प्रांत के ल्यूल्यांग पहाड़ी क्षेत्र का निरीक्षण किया ।चाओ च्यावा नाम के गांव ल्यूल्यांग क्षेत्र में अत्यंत गरीबी थी । गांववासी ल्यू फूयो के घर के कठोर पलंग पर बैठे हुए शी चिनफिंग ने उनसे सालाना आय और सबसे चिंता की बात पूछी। ल्यू फूयो ने याद करते हुए हुआ ।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी