विदेशी निवेश कानून से चीन में निवेश के दौरान विदेशी व्यापारियों को चिंतित होने की जरूरत नहीं

2019-03-12 20:07:00

एनपीसी संविधान और कानून समिति के प्रधान ली फ़ेई सीआरआई संवाददाता को इन्टरवेयू देते हुए

13वीं एनपीसी के दूसरे पूर्णाधिवेशन ने 10 मार्च को“चीन लोक गणराज्य विदेशी निवेश कानून (मसौदे)”पर विचार विमर्श किया। इसके बाद पूर्णाधिवेशन के उप महासचिव, एनपीसी संविधान और कानून समिति के प्रधान ली फ़ेई ने सीआरआई संवाददाता को दिए एक इन्टरव्यू में कहा कि इस कानून से चीन में निवेश के दौरान विदेशी व्यापारियों को चिंता नहीं रहेगी।

उन्होंने कहा कि विदेशी निवेश कानून“विदेशी निवेश तीन कानून”(चीनी और विदेशी संयुक्त पूंजी वाले उद्योग कानून, विदेशी पूंजी उद्योग कानून और चीनी व विदेशी सहयोग उद्योग कानून) के आधार पर देश के विकास के दौरान प्राप्त विदेशी निवेश प्रबंधन अनुभव और नियम के अनुसार नई विचारधारा के मुताबिक बनाया जाने वाला और संपूर्ण कानून व्यवस्था है। इस कानून के मसौदे को बनाने के लिए 5 साल लगा, जो साल 1997 के बाद से लेकर अब तक चीन में संपूर्ण कानून व्यवस्था की प्रक्रिया का एक भाग है। वर्तमान में चीन में कच्ची सामग्रियों की खरीददारी, आयात निर्यात, विदेशी मुद्रा, बैंकिंग आदि क्षेत्रों में स्थिति परिपक्व हो गयी है, जिन्होंने विदेशी निवेश कानून की स्थापना के लिए ठोस नींव तैयार की।

ली फ़ेई के अनुसार, चीन ने चार पहलुओं में विदेशी पूंजी को आकर्षित किया। यानी कि विशाल बाज़ार, स्थिर राजनीतिक सामाजिक पर्यावरण, प्रचुर संसाधन और परिपक्व श्रम शक्ति व सुयोग्य व्यक्तियों का बाज़ार। वित्तीय बाज़ार के कदम ब कदम खुलेपन और वित्त पोषण की सुविधा भी उल्लेखनीय है। इस तरह दूरगामी दृष्टि वाले विदेशी निवेशक बिना किसी चिंता के चीन में निवेश करने आ सकेंगे।

ली फ़ेई ने कहा कि चीन में निवेश वातावरण और कानूनी व्यवस्था की संपूर्णता के चलते यहां निवेश करने का उज्ज्वल भविष्य मौजूद है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी