“2018 में अमेरिका मानवाधिकार रिकॉर्ड”जारी - चीन

2019-03-14 19:07:00

“2018 में अमेरिका मानवाधिकार रिकॉर्ड”जारी - चीन

चीनी राज्य परिषद के न्यूज़ कार्यालय ने 14 मार्च को“2018 में अमेरिका मानवाधिकार रिकॉर्ड”और“2018 में अमेरिका में मानवाधिकार उल्लंघन मामले”दो रिपोर्टें जारी कीं, जिनमें अमेरिका की मानवाधिकार उल्लंघन स्थिति का खुलासा किया गया।

12 हज़ार शब्दों वाले मानवाधिकार रिकॉर्ड में अमेरिका में नागरिकों के अधिकारों पर पैरों तले रौंदना, धन की राजनीति, अमीर और गरीब के बीच का ध्रुवीकरण, नस्लीय भेदभाव की गंभीरता, बाल-बच्चों की सुरक्षा, लिंग भेदभाव, आप्रवासी त्रासदी और एकतरफ़ावाद को नागरिकों का अस्वीकार आदि भाग शामिल हैं। रिकॉर्ड में मानवाधिकार उल्लंघन मामलों के बारे में 10 हज़ार शब्दों से वर्णन किया गया।

रिकॉर्ड में कहा गया कि स्थानीय समय के अनुसार 13 मार्च को अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने“2018 विभिन्न देशों के मानवाधिकार की रिपोर्ट”जारी की, जिसमें विश्व के 190 से अधिक देशों की मानवाधिकार स्थिति पर मन माने ढंग से आरोप लगाया गया, लेकिन खुद की गंभीर मानवाधिकार स्थिति पर परवाह नहीं की गई। साल 2018 में अमेरिका की मानवाधिकार स्थिति को देखा जाए, तो पता लगाया कि खुद को“मानवाधिकार की रक्षक”कहने वाली अमेरिकी सरकार का मानवाधिकार रिकॉर्ड खराब रहा, उसने फिर भी दोहरा मापदंड अपनाया।

मानवाधिकार रिकॉर्ड के अनुसार, साल 2018 में अमेरिका में बंदूक से संबंधित कुल 57103 मामले पैदा हुए, जिनसे 14717 लोगों की मौत हुई और 28172 घायल हुए, हताहत व्यक्तियों में अप्रौढ़ की संख्या 3502 थी। साल 2018 में अमेरिका में 94 स्कूली बंदूक मामले हुए, कुल 163 लोग हताहत हुए, जो इतिहास में एक रिकॉर्ड है।

मानवाधिकार रिकॉर्ड में कहा गया कि वर्तमान में अमेरिका में अमीर और गरीब के बीच का ध्रुवीकरण पश्चिमी देशों में सबसे ज्यादा है। 1 प्रतिशत अमीरों के पास देश भर की 38.6 प्रतिशत संपत्ति है, लेकिन आम नागरिकों की संपत्ति की कुल मात्रा और आय का स्तर लगातार कम हो रहा है। लगभग आधे अमेरिकी परिवारों का जीवन गरीब है। 1 करोड़ 85 लाख अमेरिकी नागरिक अति गरीबी से पीड़ित हैं। अश्वेत अमेरिकी लोगों की गरीबी दर श्वेत लोगों की तुलना में ढाई गुना ज्यादा है, जबकि उनकी बेरोज़गार दर श्वेत लोगों की तुलना में 2 गुना अधिक है।

मानवाधिकार रिकॉर्ड में यह भी कहा गया कि अमेरिका में नेटवर्क निगरानी और नियंत्रण स्थिति सामान्य है। अमेरिका सरकार की“प्रिज्म”(पीआरआईएसएम) परियोजना 24 घंटे में प्रचालित होती है, जो अधिकार प्राप्त बिना नागरिकों के ई-मेल, फ़ेसबुक, गूगल चैट और स्काइप नेटवर्क कॉल आदि पर निगरानी करती है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी