70 सालों में चीनी फिल्म विकास थीम वाला मंच आयोजित

2019-04-15 12:43:00

चीनी फिल्मकार संघ के उप प्रमुख चांग होंग ने जानकारी देते हुए कहा कि वर्ष 1978 में सुधार और खुलेपन की नीति लागू किये जाने के बाद से लेकर अब तक चीनी फिल्म रचना का तेज़ विकास हो रहा है। फिल्म की विविधता सामने आई। उन्होंने कहा:“फिल्म निर्देशक श्ये चिन के प्रतिनिधित्व वाले तीसरी पीढ़ी वाले फिल्म निर्देशकों द्वारा बनाई गई‘क्वानयुनशान का कारनामा’और‘फ़ूरोंग कस्बा’आदि फिल्मों ने नई कलात्मक शैली शुरु की। श्ये फ़ेई के प्रतिनिधित्व वाले चौथी पीढ़ी वाले फिल्म निर्देशकों द्वारा बनाई गई‘नगर के दक्षिण में पुरानी कहानी’कविता की तरह सुन्दरता दिखाई। वहीं चांग यीमओ और छन खाईक के प्रतिनिधित्व वाले पांचवीं पीढ़ी वाले फिल्म निर्देशों द्वारा बनाई गई‘लाल सोरघम’और‘किंग ऑफ़ द चिल्ड्रन’ आदि फिल्मों ने खोज की भावना, जटिलपूर्ण इतिहास और वर्तमान समाज को व्यक्त किया। इसके बाद छठी पीढ़ी वाले फिल्म निर्देशक और नई पीढ़ी वाले फिल्म निर्देशकों ने फिल्म रचनाओं में इतिहास, समाज और जीवन के प्रति अपनी खोज और विचार व्यक्त किए, इस तरह देश में फिल्म की विविधता सामने आई और सौंदर्यशास्र की शैली कदम ब कदम पैदा हुई।”

70 सालों में चीनी फिल्म विकास थीम वाला मंच आयोजित

एक के बाद एक पीढ़ी वाले फिल्मकारों के प्रयास के चलते चीनी फिल्म का बेहतरीन विकसित रूझान बरकरार रहा है और शीघ्र ही विश्व फिल्म जगत में प्रवेश हुई। नए युग में आर्थिक भूमंडलीकरण, वैज्ञानिक और तकनीकी सूचनाकरण युग की प्रमुख धारा बन चुकी है। चीनी फिल्म उद्योग तेज़ विकास के स्वर्णिम युग से गुज़र रहा है। आंकड़ों से पता चला है कि देश भर में फिल्म की कुल कमाई साल 2012 की 17 अरब युआन से 2018 की 60.9 अरब युआन तक पहुंच गई। अब चीन विश्व में दूसरा बड़ा फिल्म बाजार और वैश्विक फिल्म उत्पादन देश बन चुका है। साल 2012 में देश भर में फिल्म स्क्रीन की संख्या 10 हज़ार थी, लेकिन साल 2018 में यह संख्या बढ़कर 60 हज़ार तक पहुंच गई, जो विश्व फिल्म स्क्रीन की संख्या में सबसे ज्यादा है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी