लापा तुनचू और उसके बच्चे

2019-05-15 19:39:00

23 वर्षीय लापा तुनचू तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के चीलोंग कस्बे स्थित तामान गांव से अध्ययन के लिए सबसे पहले गांव से बाहर जाने वाले तीन युवाओं में से है। नॉर्मल कॉलेज से स्नातक होने के बाद वह अपने जन्मस्थान वापस लौटा और तामान गांव में एकमात्र शिक्षक बना, अब वह पांगशिंग किंडरगार्टन में अध्यापन कर रहा है। तामान गांव समेत आसपास के तीन गांवों में स्कूली उम्र वाले बच्चे यहां पढ़ते हैं। बताया जाता है कि तामान गांव तिब्बत के दूसरे क्षेत्र के बराबर मुफ्त शिक्षा दी जाती है। साल 2018 के अंत तक इस गांव में स्कूली उम्र क् बच्चों की स्कूल में दाखिला दर शत प्रतिशत है। अब शिक्षा लेने की वजह से तिब्बत के इस छोटे से गांव का नया रूप सामने आ रहा है और गांववासियों का भाग्य भी बदल गया है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी