ली खछ्यांग ने सिंगापुर व ग्रीस के राष्ट्रपति से भेंट की

2019-05-16 11:42:00

चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने 15 मई को जन वृहद भवन में सिंगापुर की राष्ट्रपति हालिमाह याकूब से भेंट की।

ली खछ्यांग ने कहा कि चीन व सिंगापुर ने आपसी सम्मान, समान सहयोग, आपसी लाभ व समान जीत के आधार पर अच्छे संबंध बनाये हैं। दोनों देशों के राष्ट्रपतियों ने भेंट की और समृद्ध उलब्धियां हासिल कीं। चीन सिंगापुर के साथ अपनी अपनी श्रेष्ठता से लाभ उठाकर सहयोग जारी रखेगा, लगातार सहयोग की निहित शक्ति खोजेगा, और बेल्ट एंड रोड पहल को सिंगापुर के विकास योजना से जोड़कर पश्चिमी चीन व सिंगापुर के बीच सहयोग को मजबूत करने के अलावा थर्ड पार्टी मार्केट, समार्ट शहर व तकनीक के प्रशिक्षण आदि क्षेत्रों के सहयोग को भी मजबूत करेगा।

हालिमाह ने कहा कि सिंगापुर चीन के संबंधों के विकास पर कायम रहेगा। वर्तमान में दोनों देशों के संबंधों का विकास शक्तिशाली है, सहयोग के कार्यक्रम भी सुचारु रूप से चल रहे हैं।

ठीक उसी दिन में ली खछ्यांग ने जन वृहद भवन में ग्रीस के राष्ट्रपति प्रोकोपिस पावलोपोलोस से भी भेंट की।

ली खछ्यांग ने कहा कि ग्रीस यूरोपीय संघ में चीन का विश्वसनीय साझेदार है। दोनों देशों के राष्ट्रपतियों ने फलदायक वार्ता की, और दोनों देशों के संबंधों के भावी विकास की योजना बनायी। चीन व ग्रीस दोनों पुरातन सभ्यता वाले देश हैं। विश्व में सभ्यताएं रंगारंग हैं। हमें विभिन्न सभ्यताओं के बीच वार्ता व आदान-प्रदान को मजबूत करना चाहिये।

पावलोपोलोस ने कहा कि सभ्यता शांतिपूर्ण होनी चाहिये। सभ्यता का टकराव वाला विचार बिल्कुल गलत है। जिसने सभ्यताओं के बीच आदान-प्रदान के पुल को काट दिया, और असभ्यता व आतंकवाद इससे पैदा होगा। चीन ने विश्व के सामने खुला रुख अपनाकर गरीबी उन्मूलन, जलवायु परिवर्तन आदि क्षेत्रों में विश्व के लिये महत्वपूर्ण योगदान दिये हैं।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी