(इंटरव्यू) बिजनेस बढ़ेगा, सामने नहीं आएगा सीमा विवाद-एस.के.कालरा

2019-05-23 13:38:00

जैसा कि हम जानते हैं अमेरिकी राष्ट्रपति एक बिजनेसमैन हैं, वे मंझे हुए राजनीतिज्ञ नहीं हैं। वे अमेरिका जैसे देश की राजनीति को ऐसे चला रहे हैं, जिस तरह किसी कंपनी का प्रबंध किया जाता है। लेकिन ट्रंप जो कदम उठा रहे हैं, उनका नतीजा उलट हो रहा है। वे अमेरिका को प्रॉफिट सेंटर बनाने के लिए काम कर रहे हैं, लेकिन जो कदम उठाए जा रहे हैं अमेरिकी कंपनियों को भी नुकसान हो रहा है।

इस संदर्भ में कहूं तो भारत और चीन के बीच कोई भी मुक्त व्यापार समझौता(एफटीए) नहीं है। अगर इस तरह का एक समझौता संपन्न हो जाय तो दोनों देशों को लाभ मिलेगा।

एस.के.कालरा के मुताबिक अगली सरकार के कार्यकाल के दौरान डोकलाम जैसे सीमा विवाद सामने नहीं आएंगे। दोनों देशों के व्यापारिक और आर्थिक रिश्ते इन विवादों को ढंकने का काम करेंगे। भारत व चीन के बीच जिस गति से व्यापार बढ़ रहा है, उसे देखते हुए सीमा विवाद उभरने की संभावना बहुत कम नजर आती है।

अनिल आजाद पांडेय

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी