(इंटरव्यू-तरुण विजय) जानिए, चुनाव परिणाम के बाद कितने आगे बढ़ेंगे चीन-भारत संबंध

2019-05-23 14:08:00

(इंटरव्यू-तरुण विजय) जानिए, चुनाव परिणाम के बाद कितने आगे बढ़ेंगे चीन-भारत संबंध

भारत में चुनाव नतीजे आ रहे हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार फिर से सत्ता संभालने वाली है। नई सरकार के गठन के बाद चीन-भारत रिश्तों पर क्या असर पड़ेगा। दोनों देश आर्थिक, व्यापारिक और सीमा संबंधी चुनौतियों से कैसे पार पाएंगे। एशिया के इन दो देशों को संबंधों की बेहतरी के लिए क्या करना होगा। वैश्विक आर्थिक उथल-पुथल के माहौल में भारत व चीन को क्या कदम उठाने चाहिए। इन सब मुद्दों पर सीआरआई ने विस्तार से बात की जाने माने लेखक, विचारक, सीआईआई चीन-भारत संसदीय समूह के अध्यक्ष और भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारणी के सदस्य तरुण विजय के साथ। तरुण विजय चीन-भारत संबंधों पर गहरी पकड़ रखते हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि वह दोनों देशों के रिश्तों के बीच सद्भभावना दूत की भूमिका निभा रहे हैं।

तरुण विजय कहते हैं कि एग्जिट पोल के नतीजों के साथ-साथ हमारा खुद का भी आकलन है कि भाजपा को पिछले चुनाव से अधिक सीटें हासिल होंगी। और एनडीए सरकार पहले से कहीं अधिक मजबूत और ज्यादा सांसदों की शक्ति के साथ बनेगी। जो अधिक निर्णायक साबित होगी।

(इंटरव्यू-तरुण विजय) जानिए, चुनाव परिणाम के बाद कितने आगे बढ़ेंगे चीन-भारत संबंध

चीन-भारत रिश्तों में को लेकर तरुण विजय का कहना है कि शी चिनफिंग और नरेंद्र मोदी के बीच दोस्ती का जो रसायन प्रारंभ हुआ है, वूहान में इन दोनों नेताओं की जो वार्ता हुई। वूहान में शी चिनफिंग ने जिस अभूतपूर्व ढंग से मोदी जी का स्वागत किया। चीन के इतिहास में पहली बार चीनी राष्ट्रपति ने राजधानी से बाहर जाकर किसी देश के प्रधानमंत्री का स्वागत किया। वूहान में दोनों की वार्ता राजनीति व कूटनीति से दूर सभ्यतामूलक और मित्रता सूचक बातचीत रही।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी