टीवी एंकरों के बीच हुई बहस से चीन के प्रति अमेरिका की गलतफहमी दूर होने में हितकारी- अमेरिकी विद्वान

2019-05-31 11:39:00

टीवी एंकरों के बीच हुई बहस से चीन के प्रति अमेरिका की गलतफहमी दूर होने में हितकारी- अमेरिकी विद्वान

पेइचिंग समय के अनुसार 30 मई को चाइना मीडिया ग्रुप के अधीन चीनी अंतर्राष्ट्रीय टीवी यानी सीजीटीएन की होस्ट ल्यू शीन और अमेरिका के फॉक्स बिज़नेस नेटवर्क की होस्ट ट्रीस रिगन के बीच चीन और अमेरिका के बीच व्यापार घर्षण के विषय पर टीवी बहस हुई। अमेरिकी थिंकटैंक चीन-अमेरिका अध्ययन संस्थान के विद्वान सौरभ गुप्ता ने चाइना रेडियो इन्टरनेशनल को दिए एक इन्टरव्यू में कहा कि यह कार्यक्रम एक अच्छी शुरुआत है, जिससे चीन के प्रति अमेरिका की गलतफ़हमी दूर होने में मददगार सिद्ध होगा।

यह चीनी और अमेरिकी टीवी एंकरों के बीच हुई पहली बहस है। दोनों पक्षों ने निष्पक्ष व्यापार, बौद्धिक संपदा अधिकार, ह्वावेइ, टैरिफ़, विकासमान देशों में चीन का स्थान और अमेरिका के तथाकथित“राष्ट्रीय पूंजीवाद”समेत कुछ विषयों को लेकर 16 मिनट तक बहस की।

सौरभ गुप्ता ने कार्यक्रम को देखकर सीआरआई संवाददाता से कहा कि अमेरिका में चीन के प्रति कुछ गलतफ़हमियां मौजूद हैं, दोनों एंकरों के बीच हुई बातचीत एक उपयोगी शुरुआत है, जिससे गलतफहमियों को दूर किया जाने, पारस्परिक समझ को आगे बढ़ाने के लिए हितकारी होगा।

गुप्ता के विचार में कार्यक्रम में दोनों टीवी एंकरों ने उत्तम प्रदर्शन किया। कार्यक्रम में ट्रीस रिगन ने चीन के विकासमान देश वाला सवाल पूछा। चीनी होस्ट ल्यू शीन ने कहा कि चीनी अर्थव्यवस्था का दायरा बहुत विशाल है, लेकिन चीन की जनसंख्या 1.4 अरब है, प्रति व्यक्ति औसत जीडीपी प्रति अमेरिकी वासी की औसत जीडीपी का एक छठां भाग है। चीनी लोग बहुत परिश्रमी है, संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन में चीन सबसे बड़ा योगदानकर्ता है और बेशुमार अंतरराष्ट्रीय मानवीय सहायता प्रदान की।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी