टिप्पणी:अमेरिकी सांसद मार्को रूबियो का असली चेहरा

2019-06-19 14:44:00

लेकिन चीन के विपक्ष में रूबियो का तमाशा सिर्फ बौद्धिक संपदा अधिकार पर नहीं है। वर्ष 2011 में सांसद बनने के बाद रूबियो ने अनेक सवालों पर राजनीतिक खेल खेला है। जैसे उसने संसद में "ताइवान यात्रा कानून" पारित करवाया। उसने अमेरिकी सरकार में चीनी उपकरणों के इस्तेमाल पर रोक लगाने की मांग की। उसने अमेरिकी स्कूल में कन्फ्यूशियस अकादमी को निकालने के लिये आवाज उठायी। यहां तक कि वाशिंग्टन पोस्ट ने कहा कि रूबियो चीन के खिलाफ सबसे बड़े आलोचक है। लेकिन रूबियो को अपना यह उपनाम पसंद है। 48 वर्षीय रूबियो को रिपब्लिकन पार्टी में एक नया राजनीतिक सितारा माना जाता है। और इस के पीछे पार्टी की पृष्ठभूमि भी होती है। चीन का विरोध करने के अतिरिक्त रूबियो की अपनी हठतापूर्ण राजनीतिक कुआकांक्षा भी है। रूबियो ने यह दावा किया कि हमें अमेरिका को नयी शताब्दी में प्रवेश करवाना चाहिये। वर्ष 2016 में उसने अमेरिका के आम चुनाव में भाग लिया, पर विफल हुआ। पर अपनी हार से संतुष्ट न होकर अपने को "देशभक्त" के आकार में रखने की अथक कोशिश की। और चीन के विरोध में बार बार बिल तैयार करना उन का राजनीतिक तमाशा ही है।

लेकिन आजकल लोग स्पष्ट रूप से यह देख सकते हैं कि "देशभक्त" के नाम पर रूबियो वास्तव में अमेरिका को बदनाम करने में लगा है। वह अपने गलत विचारों और कार्यवाहियों से अमेरिकी जनता के हितों को नुकसान पहुंचा रहा है और अधिकाधिक लोग उस की कुआकांक्षा देख पाएंगे।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी