चीन व भारत सहयोग से विश्व आर्थिक विकास के लिये ज्यादा योगदान दे सकेंगे

2019-07-02 17:13:00

वर्ष 2019 ग्रीष्मकालीन दावोस मंच 1 से 3 जुलाई को चीन के ताल्येन शहर में आयोजित हुआ। भारत से आए फ़्रेश टू होम कंपनी के सीईओ शान कादाविल ने भारतीय नवोदित उद्यमों के प्रतिनिधि के रूप में इस मंच में भाग लिया।

कादाविल ने संवाददाता से कहा कि इस बार के ग्रीष्मकालीन दावोस मंच में उन्होंने ई-वाणिज्य में उच्च व नवीन तकनीकों के प्रयोग पर बड़ा ध्यान दिया। चीन ई-वाणिज्य क्षेत्र में विकास का नेता है। आम जीवन में विज्ञान व तकनीक के प्रयोग में चीन को बहुत-सी सफलताएं मिली हैं। उन्हें आशा है कि आदान-प्रदान व सीखने से वे चीन के सफल अनुभव को भारत के विकास में कॉपी कर सकेंगे।

कादाविल के ख्याल में चीन व भारत दोनों विश्व के बड़े आर्थिक समुदाय हैं। ई-वाणिज्य के क्षेत्र में दोनों के बीच बहुत से सहयोग किये जा सकेंगे। उदाहरण के लिये भारत का सब से बड़ा खाद्य भुगतान मंच स्विग्गी तो चीनी कंपनी द्वारा पूंजी लगाकर स्थापित किया गया है। और इस तरह के सहयोग और ज्यादा हैं। यह जाहिर हुआ है कि हाल ही में ई-वाणिज्य के क्षेत्र में चीन व भारत के सहयोग बहुत घनिष्ठ हैं। यह दोनों देशों के विकास के लिये लाभदायक भी हैं।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी