हांगकांग द्वारा एक देश दो व्यवस्थाओं की नीति लागू किया जाना अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के हित के अनुकूल है

2019-08-03 16:38:00

अमेरिकी पत्रिका न्यूज़ वीकली पर 2 अगस्त को अमेरिका स्थित चीनी राजदूत छ्वी थ्येनखाई का नामांकित लेख प्रकाशित किया गया, जिसमें चीन की एक देश दो व्यवस्थाओं की नीति पर सवाल का जवाब दिया गया। इस लेख से अमेरिका को बताया गया कि हांगकांग की समृद्धि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के समान हितों के अनुकूल है।

छ्वी थ्येनखाई के इस लेख का शीर्षक है एक देश दो व्यवस्थाओं की नीति पर कायम रहें, हांगकांग की समृद्धि और स्थिरता की रक्षा करें।

छ्वी थ्येनखाई ने कहा कि एक देश दो व्यवस्थाओं की नीति अमेरिका या यूरोप के बजाए चीन की एक नीति है। हांगकांग में अन्य देशों की नीति लागू करने का प्रयास चीन की एक देश दो व्यवस्थाओं की नीति को नुकसान पहुंचाता है। आंकड़ों के अनुसार चीन की एक देश दो व्यवस्थाओं की नीति की गारंटी में हांगकांग में सतत आर्थिक वृद्धि बनी रही है। वर्ष 2018 में हांगकांग की जीडीपी 3 खरब 60 अरब अमेरिकी डॉलर रही, जो 1996 के दोगुने से भी अधिक है। हांगकांग का अंतर्राष्ट्रीय वित्त, व्यापार और नौवहन केंद्र का स्थान मज़बूत है।

छ्वी थ्येनखाई ने कहा कि हाल में हांगकांग में हुए मामले बेहद अवैध हिंसक व्यवहार है, जिससे हांगकांग के कानूनी शासन के आधार पर प्रभाव पड़ा है और एक देश दो व्यवस्थाओं की चीन की नीति की निचली रेखा को गंभीरता से चुनौती दी गई है। हांगकांग मामला चीन का आंतरिक मामला है। चीन किसी भी बाहरी शक्ति को इसमें हस्तक्षेप करने की अनुमति नहीं देता।

छ्वी थ्येनखाई ने कहा कि हांगकांग की समृद्धि और स्थिरता चीन के हित के साथ अमेरिका समेत अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के हितों के अनुकूल है। हम चाहते हैं कि हांगकांग और अमेरिका के बीच आर्थिक, व्यापारिक और सांस्कृतिक सहयोग मज़बूत होगा।

(वनिता)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी