यूएन में हांगकांग की महिला प्रतिनिधि ने कानून के उल्लंघन वाली हिंसक कार्रवाई की कड़ी निंदा की

2019-09-12 15:41:07

हांगकांग महिला संघ की अध्यक्षा ह छाओछ्योंग ने 11 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की 42वीं आम बहस में भाषण देते हुए चरम हिंसक तत्वों द्वारा छेड़ी गई हिंसात्मक कार्रवाइयों की निंदा की। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कहा कि पिछले 3 महीनों में हांगकांग के आम नागरिकों को हिंसक कार्रवाइयों से बेहद परेशानी उठानी पड़ी। उन्होंने हिंसक हरकत को बंद करने की अपील की, ताकि हांगकांग में अपूरणीय क्षति न पहुंचाई जा सके।

ह छाओछ्योंग ने कहा कि 9 जून से लेकर अब तक हांगकांग में 130 प्रदर्शन गतिविधियां हुईं, जिनमें 110 से अधिक मामले बेवजह हिंसा और कानून के उल्लंघन वाली कार्रवाई से समाप्त हुए। इन गतिविधियों से कुछ सौ छोटे निगम बंद हुए और अधिकांश मजदूरों को अपने रोजगार से हाथ धोना पड़ा। आम हांगकांग नागरिक कानून के उल्लंघन वाली हिंसक कार्रवाइयों से सबसे ज्यादा पीड़ित हुए हैं। हांगकांग महिला जगत की प्रतिनिधि के रूप में ह छाओछ्यों ने हिंसक हरकतों से माताओं, बच्चों और परिवारों को पहुंची परेशानी से भी अवगत करवाया।

सम्मेलन में भाग लेने वाले कुछ प्रतिनिधियों ने ह छाओछ्योंग की बातों का समर्थन किया और हांगकांग समाज से सवालों के तर्कसंगत निपटारे की अपील की और हांगकांग में शीघ्र ही शांति और अमन-चैन बहाल करने की आशा जताई।

जिनेवा स्थित लाओस के प्रतिनिधि खान-इन्ह खीचड़ेथ ने कहा कि वे चीन में“एक देश दो व्यवस्थाओं”वाली नीति का समर्थन करते हैं और आशा है कि संबंधित व्यक्ति हांगकांग में शांति की बहाली वाला उपाय ढूंढ़ निकालेंगे। उनके विचार में“एक देश दो व्यवस्थाओं”की नीति से हांगकांग में आर्थिक विकास को आगे बढ़ाया जा सकता है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी