टिप्पणीः वैश्विक आर्थिक खतरा बढ़ने से बहुपक्षवाद को मज़बूती की ज़रूरत

2019-10-10 18:41:00

10 अक्तूबर को सीआरआई ने एक टिप्पणी आलेख जारी किया ,जिसका शीर्षक है कि वैश्विक आर्थिक खतरा बढ़ने से बहुपक्षवाद को मजबूती की ज़रूरत ।

आलेख में कहा गया कि फिलहाल वैश्विक आर्थिक भविष्य पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चिंता बढ़ रही है ।अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की नयी महानिदेशक क्रिसटालिना जोर्जीवा ने चेतावनी दी है कि व्यापार युद्ध जैसे तत्वों के प्रभाव से विश्व आर्थिक वृद्धि दर वर्ष 2010 के बाद से सबसे निचले स्तर पर गिरेगी। वैश्विक आर्थिक ख़तरा बढ़ने के सामने ऑस्ट्रेलिया ,सिंगापुर ,इंडोनिशिया और कनाडा चार देशों के वित्त मंत्रियों ने हाल ही में संयुक्त नाम से आलेख जारी कर बल दिया कि बहुपक्षवाद वर्तमान विश्व राजनीतिक और आर्थिक चुनौती का सामना करने वाला एकमात्र विकल्प है ।इससे भी ज़ाहिर है कि बहुपक्षवाद की समानता और मुक्त व्यापार व्यवस्था की सुरक्षा करने की बहुत ज़रूरत है ।

आलेख में कहा गया कि विभिन्न अनिश्चितताओं के प्रति अंतरराष्ट्रीय समुदाय को कई पहलुओं से काम करना है। पहला ,बड़े देशों को बहुपक्षवाद और मुक्त व्यापार नियमों की सुरक्षा के लिए अधिक बड़ी जिम्मेदारी उठानी चाहिए। दूसरा, विकसित देशों को ऐतिहासिक धारा के अनुरूप होकर नये नवोदित बाज़ार देशों को विश्व प्रशासन और बहुपक्षीय नियम बनाने में अधिक अधिकार होने देने चाहिए। इसके अलावा संबंधित देशों और आर्थिक समुदायों को सहयोग मजबूत कर आर्थिक एकीकरण बढ़ाना चाहिए ।

(वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी