हड्डियों पर खुदे अभिलेख विश्व स्मृति नामसूची में शामिल

2018-01-22 15:02:00

चीन की ओर से निवेदित हड्डियों पर खुदे अभिलेख हाल ही में मेमोरी ऑफ द वर्ल्ड यानी विश्व स्मृति नामसूची में शामिल कराये गये हैं । चीनी अक्षरों ने विश्व, खासकर पड़ोसी देशों पर दूरगामी प्रभाव डाला था और विश्व सभ्यता के विकास के लिए महत्वपूर्णँ योगदान दिया था ।चीनी शिक्षा मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि चीनी अक्षरों के स्रोत के रूप में हड्डियों पर खुदे अभिलेख विश्व स्मृति नामसूची में शामिल कराने से यह जाहिर है कि उस के मूल्य को विश्व भर में मान्यता मिली है ।चीन हड्डियों पर खुदे अभिलेख का डेटाबेस स्थापित करेगा ताकि इस प्राचीन अभिलेखों का अध्ययन नई मंजिल पर पहुंचे ।

हड्डियों पर खुदे अभिलेख विश्व स्मृति नामसूची में शामिल

हड्डियों पर खुदे अभिलेख चीन में पाये गये सब से पुराने अभिलेख हैं ।वे सब से पहले मध्य चीन के हनान प्रांत के एन यांग क्षेत्र में शांग राजवंश की राजधानी के खंडहर में खोजे गये थे,जिस का प्रयोग तीन हज़ार वर्ष पहले शांग राजवंश में शगुन-परीक्षा और प्रार्थना में किया जाता था ।कछुओं और अन्य पशुओं की हडिड्यों पर खुदे अभिलेख चीनी अक्षरों का स्रोत था ।इन अभिलेखों से विकसित चीनी अक्षरों के कारण चीनी सभ्यता के विकास की रिकॉर्डिंग अब तक बरकरार है और लगभग चार हजार वर्षों में ठप्प नहीं हुआ ।हड्डियों पर खुदे अभिलेख चीनी प्राचीन सभ्यता और आदिकाल के देश और समाज के अध्ययन के लिए सच्ची और विशिष्ट सामग्रियां है ।

पेइचिंग स्थित शाही महल संग्रहालय में लगभग 23 हज़ार हड्डियों पर खुदे अभिलेखों के टुकड़े सुरक्षित हैं ,जिस की संख्या विश्व में तीसरे स्थान पर है ।शाही महल संग्रहालय के प्रमुख शेन चीश्यांग ने बताया कि विश्व स्मृति नामसूची में हड्डियों पर खुदे अभिलेख शामिल कराने का बड़ा महत्व है ।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी