चीन में क्लोन बंदर पैदा हुए

2018-01-31 15:32:04

चीन में क्लोन बंदर पैदा हुए

24 जनवरी को चीनी विज्ञान अकादमी ने पेइचिंग में घोषणा की कि चीनी वैज्ञानिकों की लगातार कोशिशों से 27 नवंबर और 5 दिसंबर 2017 को विश्व में पहला क्लोन बंदर चुंग चुंग और उस की बहन हुआ हुआ पैदा हुए । चीन नान हूमेन प्राइमेट क्लोनिंग में सफलता पाने वाला पहला देश बन गया है। यह उपलब्धि भविष्य में ब्रेन डिजीज़ के इलाज और जन स्वास्थ्य क्षेत्र में निकलने वाली बड़ी चुनौती का सामना करने के लिए योगदान देगी।

वर्ष 1997 में डॉली नाम की क्लोन भेंड़ पैदा होने के बाद घोड़े ,गाय ,ऊंट ,बिल्ली और कुत्ते सहित कई स्तनपायी जीवों के क्लोन बनाने में सफलता मिली थी ,लेकिन मानव से सब से करीब होने वाले नान ह्यूमन प्राइमेट का क्लोन विश्व भर में एक कठिन समस्या रहा है। शांगहाई स्थित चीनी चीनी विज्ञान अकादमी के स्नायु शास्त्र केंद्र के अध्ययनकर्ता सुन छांग ने अपनी टीम का नेतृत्व कर पाँच साल के प्रयास से फिलहाल जीवन विज्ञान में इस कठिन मुद्दे में ब्रेकथ्रो प्राप्त की ।विश्व में सोमाटिक सेल से क्लोंद पहला बंदर चीन में पैदा हुआ ।चीनी विज्ञान अकादमी के अध्यक्ष बोइ छुंगली ने 24 तारीख को आयोजित एक प्रेस वार्ता में घोषणा की ,27 नवंबर 2017 को विश्व में पहला सोमाटिक सेल्स से क्लोंद बंदर चुंग चुंग पैदा हुआ । 5 दिसंबर 2017 को सोमाटिक सेल से क्लोन दूसरी बंदरिया हुआ हुआ पैदा हुई । इस उपलब्धि का प्रतीक है कि चीन ने सोमाटिक सेल्स से क्लोन बंदर का परीक्षात्मक पशु के रूप में इस्तेमाल करने का नया युग आरंभ किया है ।

बोइ छुंगली ने बताया कि सोमाटिक सेल्स से बंदर का क्लोन करना चीनी विज्ञान अकादमी की टीम द्वारा पूरी तरह अपनी शक्ति से प्राप्त बड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर वाली बड़ी उपलब्धि है ।चीन नान ह्यूमन प्राइमेट अध्ययन में अग्रसर हो गया है ।इस अध्ययन कार्यक्रम पर जिम्मेदार चीनी अकादमी के स्नायु शास्त्र संस्थान के अध्ययनकर्ता सुन छ्यांग ने बताया ,हम निरंतर कोशिश करते रहे और हार कभी नहीं मानते । पहले दो साल में हम ने विदेशी तकनीक सीखी और इस आधार पर निरंतर परीक्षण करते रहे । बड़े कठिन परिश्रम के बाद सब से अच्छे मौके पर हम ने यह काम पूरा किया ।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी