उच्च गुणवत्ता से तिब्बत के निर्माण को बढ़ावा दे-चिज़ाला

2018-03-20 15:33:01

चिज़ाला

हाल ही में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के अध्यक्ष चिज़ाला ने पेइचिंग में आयोजित राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा में भाग लेते समय इंटरव्यू लेकर तिब्बत में आर्थिक विकास और जन जीवन के बारे में प्रश्नों का उत्तर दिया।

चिज़ाला ने कहा कि बीते चालीस सालों में तिब्बत गरीबी को छोड़कर अमीर व समृद्ध के उज्जवल युग में प्रवेश हो चुका है। आज तिब्बत की राजधानी ल्हासा से दूसरे बड़े शहर छांगतु तक जाने के लिए विमान से एक ही घंटे तक पहुंच जा सकता है। लेकिन पहले ऐसा रास्ता नापने में कई महीने चाहिये। ल्हासा शहर के उपनगर के तामा नामक गांव के एक जन प्रतिनिधि ने बताया कि सन 1980 के दशक में उस गांव की कुल मिलाकर आय केवल पाँच हजार युवान रही थी, जबकि आज यह मात्रा पाँच करोड़ युवान तक जा पहुंची है। तामा गांव के अलावा तिब्बत के दूसरे सभी गांवों में हाई स्पीड से विकास और परिवर्तन किया जा रहा है।

चिज़ाला ने कहा, बीते चालीस सालों में तिब्बत के किसानों व चरवाहों को घास मैदान, जंगल और ज़मीन के स्वामित्व के रुपांतर से लाभ मिल पाया है। सन 1978 में तिब्बत में किसानों की औसत आय 174 युवान रही जबकि गत वर्ष यह मात्रा 10330 युवान रह चुकी है। तिब्बत की वृद्धि दर पूरे देश में ही सबसे ऊंची है। तिब्बत में आर्थिक विकास की प्रगतियों से सभी किसानों और चरवाहों को लाभ पहुंचाया गया है। केंद्र ने छह बार तिब्बत के विकास संबंधी कार्य सभाओं का आयोजन किया और तिब्बत के विकास दिशा व लक्ष्यों की पूरी तैनाती तय की ।

चिज़ाला ने कहा कि छठवीं केंद्रीय विकास कार्य सभा में महासचिव शी चिनपींग ने सीमांत क्षेत्रों के विकास में तिब्बत की सुस्थिरता को प्राथमिकता देने का विचार प्रस्तुत किया। बीते पाँच सालों के भीतर तिब्बत में जो परिवर्तन हुआ है वह अभूतपूर्व साबित है। जन जीवन के सुधार के साथ-साथ शिक्षा, तकनीक और संस्कृति के क्षेत्रों में भी उल्लेखनीय विकास संपन्न हो गया है। देश के दूसरे प्रांतों की तुलना में तिब्बत का विकास सबसे तेज़ है। योजनानुसार वर्ष 2020 तक तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में भी देश के दूसरे प्रांतों के साथ-साथ खुशहाल समाज का निर्माण समाप्त किया जाएगा।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी