ल्हासा के परिवहन निर्माण में वातावरण संरक्षण पर ध्यान केंद्रित

2018-07-16 15:02:00

ल्हासा शहर के आउटर रिंग रोड का उत्तरी भाग की शुरूआत राष्ट्रीय प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र ल्हालू वेटलैंड के पास स्थित है। 1220 हेक्टेयर विशाल इस शहरी आर्द्रभूमि को ल्हासा का फेफड़ा बताया जाता है। ल्हालू वेटलैंड पानी शुद्ध करने, स्वच्छ हवा बनाने, हवा नमी में वृद्धि करने और ऑक्सीजन बनाने में अत्यंत महत्वपूर्ण पात्र निभा रहा है। वेटलैंड पर प्रभाव न करने के लिए आउटर रिंग रोड के निर्माण में भारी बदलाव किया गया। ल्हासा शहर में शहरी निर्माण निवेश कंपनी के उप डायरेक्टर चाओ छंग च्ये ने कहा,“ल्हालू वेटलैंड से टालने के लिए हम ने इस मार्ग का लाइन भी बदल दिया और इस के लिए कुछ सुरंगों का निर्माण भी करना पड़ा है।” वेटलैंड का यथासंभव संरक्षण करने के लिए इस वेटलैंड से जुड़ने वाली नदियों पर कुछ नये पुल निर्मित किये गये। ल्हासा शहर के नागरिक लोसांग त्सेरिंग ल्हालू वेटलैंड के तट पर रहते हैं। वे अपने मकान के खिड़की से ही वेटलैंड का दृश्य देख पाते हैं। उन्हों ने कहा,“तिब्बत में लोग आम तौर पर अपने दरवाज़े के सामने ही पहाड़ या नदी देख पाते हैं। मैं ल्हालू वेटलैंड के पास ही रहता हूं। वहां घूम लेने से बहुत खुशी होती है। क्योंकि वहां का वातावरण अच्छा है और मेरे दिल में वातावरण संरक्षण का विचार भी खड़ा हुआ है।”

आउटर रिंग रोड का दक्षिणी भाग ल्हासा नदी के तट से चलता है। यहां एक नया शहरी फेफड़ा स्थापित किया जा रहा है। वर्ष 2013 के मार्च में इस नदी पर जल भंडारण परियोजना शुरू की गयी। वर्ष 2016 के अक्तूबर में परियोजना समाप्त हुई। इससे ल्हासा नदी के इस भाग को एक कृत्रिम झील बनाई गयी। ल्हासा शहर के जल संरक्षण ब्यूरो के उप प्रधान थंग पाओ थींग ने कहा,“पहले सर्दियों के दिन में ल्हासा नदी के इस भाग में जल प्रवाह खत्म था। नदी का तल भी साफ तौर पर दिखता था। रेतीली हवा चलने से शहर में आर्द्रता भी कम होने लगी थी। कृत्रिम झील बनाने से इस नदी के आसपास क्षेत्रों में वातावरण में सुधार किया गया है। सूखी अवधि में नदी के इस भाग का जल भंडारण बीस लाख घन मीटर तक जा पहुंचा है। इस तरह ल्हासा शहर के प्राकृतिक वातावरण में काफी सुधार आया है।” 

ल्हासा शहर के आउटर रिंग रोड के दक्षिणी भाग के तहत वृक्षारोपण की परियोजना भी लागू की गयी है। जहां के नानशान पारिस्थितिक पार्क में कुल दस हजार हेक्टेयर पेड़ लगाये गये हैं। इस तरह ल्हासा शहर के नागरिकों को मनोरंजन के लिए नया स्थल प्राप्त है। इस के अतिरिक्त आउटर रिंग रोड के दोनों तटों पर तीस से पचास मीटर तक विशाल क्षेत्रों में भी वनीकरण संपन्न होगा। इस ग्रीन बेल्ट के निर्माण से आउटर रिंग रोड एक पारिस्थितिक और परिदृश्य एवेन्यू बन जाएगा। ल्हासा एक और अधिक सुन्दर व जीवित शहर बन जाएगा।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी