लींगची मशरूम बोने से गरीबी हटाओ का लक्ष्य संपन्न

2018-07-23 09:32:05

लींगची, चीन में मशहूर किस्म का मशरूम या कुकुरमुत्ताहै। इस का दूसरा नाम है, गेनोडर्मा, जो चीनी चिकित्सा पद्धति में दवा के काम आता है और पहले यह सौभाग्य का लक्षण माना जाता था। लींगची, इस मशरूम की जादुई भूमिका चीन के बहुत से लोक कथा में भी वर्णित की गयी है। चीन की प्राचीन परी कहानियों में लींगची से हमेशा सौभाग्य, समृद्धि और दीर्घायु का प्रतीक किया जा रहा है।

तिब्बत के न्यिंग-ची क्षेत्र में लींगची मशरूम बोने का लम्बा इतिहास है। वर्ष 2016 के जून माह में न्यिंग-ची शहर के लांगऔ गांव ने दो लाख युआन की पूंजी लगाकर सात गरीब परिवारों को लींगची मशरूम बोने में मदद दी। एक साल के भीतर पूरे गांव के 47 परिवारों ने लींगची बोने से अपने जीवन का उल्लेखनीय सुधार किया। लांगऔ गांव में तीन ग्रीन हाउस स्थापित खड़े हुए हैं जहां लींगची मशरूम का रोपण किया जाता है। गांव की कम्युनिस्ट पार्टी की सचिव त्साओ यालींग ने कहा,“हम ने सरकार की सहायता से लींगची मशरूम बोने का उद्योग शुरू किया है। परियोजना का लक्ष्य गांव के सात परिवारों को गरीबी से मुक्त कराना है। अभी तक इस परियोजना से कई हजार युआन का लाभांश उत्पन्न हो चुका है। हरेक परिवार को चार हजार युआन की आय प्राप्त है। शेष पूंजी से मशरूम की बीज खरीदेंगे ताकि उद्योग का विकास जारी रख सके।”

त्साओ यालींग हान जातीय महिला है, जिन्होंने वर्ष 2016 में सरकारी कार्य दल के सदस्य की हैसियत से लांगऔ गांव में काम करना शुरू किया। वह हार्दिक तौर पर गांव वासियों के लिए कुछ काम करना चाहती हैं। त्साओ ने कहा कि लींगची मशरूम छाये में जी सकता है। यह मशरूम बोने में धूप से बचने और रोज पानी देने की बड़ी जरूरत है। यह काम गांव के गरीब परिवारों को सौंपा गया। त्साओ यालींग ने कहा,“ये गांव वासी मशरूम बोने के सभी कामकाज के जिम्मेदार हैं। वे रोज सुबह ताजा हवा लाने के लिए ग्रीन हाउस का दरवाजा खोलते हैं, रात को बन्द करते हैं, मशरूम को पानी देते हैं, घास हटाते हैं, और हर आधे महीने के लिए वे ग्रीन हाउस की सफाई भी करते हैं।”

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी