तिब्बत में आर्थिक व सामाजिक विकास का न्यू लुक

2018-08-31 10:03:01

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के आर्थिक व सामाजिक विकास पर चीन की केंद्रीय सरकार और यहां तक पूरे देश का ध्यान आता है। एक नवीनतम जांच के मुताबिक तिब्बत के प्रमुख शहरों, तीर्थस्थलों, पर्यटन, संस्कृति, पूंजीनिवेश और रीति-रिवाज आदि सब चीन के नेटवर्क पर हॉट वर्ड्स बन गये हैं। सरकार के मार्गदर्शन से निजी निवेश को प्रोत्साहित किया जा रहा है। इस वर्ष में निजी पूंजीनिवेश की संख्या में पैंसठ प्रतिशत अधिक रही और निजी उद्यमों की मात्रा दो लाख बीस हजार तक जा पहुंची है।

आर्थिक व सामाजिक विकास के चलते तिब्बत की राजधानी ल्हासा शहर का न्यू लुक भी नजर में आ रहा है। ल्हासा शहर के गूंगा हवाई अड्डे की ओर जाने वाले रास्ते के दोनों तटों पर बहुत से रेस्तरां खड़े हुए हैं। जो भीतरी इलाकों के सछ्वान और शानशी आदि प्रांतों से आ गये हैं। मीट लोफ़ बेचने वाले दुकानदार झेंग शीन ने बताया कि वर्ष 1990 में उन के पिता जी ने ल्हासा में अपना पहला मीट लोफ़ रेस्तरां खोला था। उस समय ल्हासा हवाई अड्डे के आसपास रेस्तरां बहुत कम थे और अधिकांश ग्राहक काम करने वाले पदाधिकारी थे। तिब्बत का दौरा करने वाला पर्यटक कम दिखते थे। वर्ष 2008 में हवाई अड्डे के पास शॉपिंग स्ट्रीट का नवीनकरण हुआ। झेंग शीन के पिता जी ने अपना दुकान हवाई अड्डे के प्रवेश स्थल पर स्थानांतरित किया। वर्ष 2013 में ल्हासा हवाई अड्डे से आने जाने वाले यात्रियों की संख्या बीस लाख तक जा पहुंची। इस तरह रेस्तरां में खाना खाने के लिए आये पर्यटकों की संख्या भी बहुत बढ़ी है। कभी कभी एक दिन कई डेलिगेशन ग्रुप आते रहे। लेकिन दुकान में खाना खाने वाले ग्राहकों में पर्यटकों के अलावा स्थानीय लोग भी शामिल हैं। बहुत से तिब्बत लोगों को भी भीतरी इलाकों के फूड पसंद है और यहां खाने आते रहे हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी