चीन के थ्येन कुंग 2 अंतरिक्ष स्टेशन से बड़ी उपलब्धियां मिलीं

2018-12-23 16:00:00

इधर कुछ सालों में चीन के अंतरिक्ष भू-सर्वेक्षण में उल्लेखनीय विकास हुआ है। रिमोट सेसिंग तकनीक व्यापक रूप से मौसम, समुद्र, बड़ी प्राकृतिक आपदा के निपटारे, कृषि, पर्यावरण संरक्षण और संसाधन नियोजन में इस्तेमाल की गई हैं, जिसने चीनी आर्थिक और सामाजिक विकास को मज़बूत समर्थन दिया है। चीनी समानव अंतरिक्ष उड्डयन परियोजना के सलाहकार और चीनी विज्ञान अकादमी के स्पेस एप्लिकेशन इंजीनियरिंग और तकनीक केंद्र के जानकार कू शी तुंग ने बताया ,

चीन के थ्येन कुंग 2 अंतरिक्ष स्टेशन से बड़ी उपलब्धियां मिलीं

इस क्षेत्र में बड़ी शक्ति लगायी गयी है। अब भू-सर्वेक्षण उपग्रहों की संख्या का पैमाना और बड़ा है। हमने संपूर्ण उपग्रह एप्लिकेशन व्यवस्था स्थापित की है, जिसमें मौसम उपग्रह, समुद्र उपग्रह, पर्यावरण उपग्रह, भू संसाधन उपग्रह और इत्यादि हैं। प्रेक्षण के परिणाम उल्लेखनीय हैं। सारे उपग्रह खुद से बनाये गये हैं। चीन में रिमोट सेंसिंग उपग्रह तकनीक का आधार अच्छा है। हमारे देश में अब इस क्षेत्र में कार्यरताओं की संख्या 1 लाख है 30 हज़ार से अधिक महत्वपूर्ण लैब और केंद्र हैं। आम स्तर विश्व की प्रगतिशील पंक्ति में है।

थ्येनकुंग नंबर 2 के स्पेस विज्ञान और इस्तेमाल आंकड़ों का देसी विदेशी प्रभाव बढ़ाने के लिए चीनी विज्ञान अकादमी के स्पेस एप्लिकेशन इंजीनियरिंग और तकनीक केंद्र ने सक्रियता से आंकड़े इस्तेमाल करने का प्रोमोशन किया।

निदेशक काओ मिंग ने बताया, अब देश में इस्तेमालकर्ताओं की संख्या 61 है, जो मंत्रालयों, अनुसंधान संस्थाओं और उच्च शिक्षा संस्थाओं में बसी हुई है। पर्यावरण और मौसम, समुद्र और झील, आपदा निगरानी, कृषि और वन उद्योग में इन आंकड़ों का प्रयोग किया जाता है। इसके अलावा हम एक पट्टी एक मार्ग पर स्थित इलाकों, छिंगहाई तिब्बत पठार और मुख्य आर्थिक विकास क्षेत्रों में संबंधित इकाईयों के इस्तेमाल का समर्थन करते हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी