तिब्बत में रुपांतर और खुली नीति अपनाने का चालीस साल

2019-01-03 17:01:13

चीन में रुपांतर और खुलेपन के चालीस सालों के बाद देश भर में भारी परिवर्तन नजर आया है। तिब्बत स्वायत्त प्रदेश का भी देश के दूसरे क्षेत्रों की तरह उल्लेखनीय विकास किया गया है। मिसाल के तौर पर तिब्बत के शाननान क्षेत्र में आर्थिक विकास वर्ष 1978 की तुलना में लगभग अस्सी गुणा बढ़ा है। ऊर्जा, यातायात, जल संरक्षण और सूचना आदि बुनियादी उपकरणों के निर्माण में भी उल्लेखनीय प्रगतियां हासिल हो गयी हैं। इस प्रिफेक्चर की 12 काउंटियों में से सात को गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य साकार हो गया है।

शाननान क्षेत्र में आर्थिक विकास होने का श्रेय केंद्र सरकार और देश के दूसरे क्षेत्रों की भारी सहायता के अलावा स्थानीय लोगों की कड़ी मेहनत तक भी जाता है। 71 वर्षीय बूढ़े तावा ग्याट्स्न की कहानी सुनने योग्य है। तावा ने शाननान क्षेत्र में तीस सालों के लिए पेड़ लगाने का अथक प्रयास किया है। उन्होंने यालूजांगबू नदी के तट पर दस हजार मू पेड़ लगाया है। वर्ष 1980 में सरकार ने इस नदी के तट पर पारिस्थितिकी संरक्षण वन का निर्माण करने का फैसला किया। सरकार के आहवान में तावा ने वन रक्षक का पद संभाला। वन रक्षक का काम मुश्किल है, पर आय कम है। लेकिन तावा ग्याट्स्न ने अपने हाथों से यालूजांगबू नदी के तट पर एक विशाल जंगल स्थापित किया। सरकार की सहायता से बहुत से लोगों ने वनरोपण के दल में शामिल किया। आज यालूजांगबू नदी के मध्य भाग में कुल 4.5 लाख मू का वृक्षारोपण लगाया गया है। पेड़ लगाने से मौसम में सुधार आया और रेतीली हवा की रोकथाम भी की गयी है। स्थानीय किसानों को आर्थिक फसलों का रोपण करने से अधिक आय प्राप्त हुई है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी