तिब्बत में वातावरण संरक्षण पर जोर दिया जा रहा है

2019-03-26 16:04:00

वांगतु के अनुसार इधर के वर्षों में बहुत से लोगों ने प्राकृतिक संरक्षण के कार्यों में भाग लिया है और उन की आय भी बढ़ायी गयी है। ल्हासा शहर के एक पदाधिकारी कल्सांग ने कहा कि उन के जिले में बहुत से लोगों ने प्राकृतिक संरक्षण में काम करना शुरू किया है। नाछू शहर के मेयर आऊ ल्यू छ्वान ने कहा,हम ने केंद्र और स्वायत्त प्रदेश की सरकार की नीतियों के मुताबिक जंगलात पशुओं और प्राकृतिक घास के मैदानों के संरक्षण को जोर लगाया। और हम ने कुछ गरीब लोगों को अत्यंत उन्नत क्षेत्रों में से आपेक्षाकृत नीचे क्षेत्रों में स्थानांतरित किया है। इस तरह इन लोगों को बेहत्तर सेवाएं प्राप्त होने के साथ साथ प्राकृतिक क्षेत्रों की स्थितियों में भी सुधार आया है। स्वायत्त प्रदेश के निवास व शहरीय व ग्रामीण निर्माण विभाग के प्रधान सलांग निम्मा ने कहा कि तिब्बत अनेक बड़ी नदियों का स्रोत भी है, इसलिए नदियों के तटों पर रहने वाले निवासों में सीवेज और कचरों के उपचार पर ध्यान देना चाहिये। उन्होंने कहा,गत वर्ष तिब्बत की दर्जनों काउंटियों ने सीवेज और कचरों की उपचार परियोजनाएं चलाना शुरू किया है। भविष्य में सभी काउंटियों में सीवेज और कचरों के उपचार में भारी सुधार लाने का काम किया जाएगा। जिससे तिब्बत के पारिस्थितिक निर्माण तथा लोगों के निवास के सुधार के लिए सकारात्मक भूमिका अदा की जाएगी।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी