माउंट चोमोलंगमा का सदैव संरक्षण

2019-04-16 11:37:01

वर्ष 2006 में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश द्वारा प्रकाशित पर्वतारोहण नियम के मुताबिक पर्वतारोहण की गतिविधि चलाने में पारिस्थितिकी, संसाधन और सार्वजनिक सुरक्षा की जरूरतों का पालन करना पड़ता है। और प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र में पर्वतारोहण करने के लिए आवेदन का अनुमोदन लेना पड़ता है। वर्ष 2018 से माउंट चोमोलंगमा का पर्वतारोहण केवल वसंत के मौसम में किया जाता है। और उसी साल तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के खेल ब्यूरो ने माउंट चोमोलंगमा के पर्वतारोहण शिविर के क्षेत्र में कचरों की पूर्ण सफाई की। इस संस्था के एक पदाधिकारी के अनुसार माउंट चोमोलंगमा के पर्वतारोहण के लिए कचरा प्रबंधन नियम भी तैयार किया जाएगा और हर वर्ष केवल तीन सौ पर्वतारोहियों के आवेदन को पुष्ट किया जाएगा। माउंट चोमोलंगमा के प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र ने भी कचरा और प्रदूषित पानी के प्रबंधन नियम जैसे सिलसिलेवार नियम प्रकाशित किये हैं। कुछ समय पूर्व तिब्बती बहुल छींगहाई प्रांत ने भी घोषित किया कि सानच्यांगयुवान और छींगहाई झील जैसे प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्रों के कुछ भागों में पर्यटन करना मना दिया गया है। क्योंकि चीनी कानून के मुताबिक प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्रों के कोर क्षेत्र, बफर क्षेत्र और प्रायोगिक क्षेत्र बांटे हुए हैं। केवल बफर क्षेत्र और प्रायोगिक क्षेत्र में वैज्ञानिक प्रयोग, पर्यटन और जंगलात जानवरों का पालन करने और वनस्पतियों का रोपण करने की इजाजत दी जाती है। लेकिन अनेक प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्रों को मानव गतिविधयों से बरबाद किया गया है। प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्रों के संरक्षण को कड़ा बनाने के लिए चीन सरकार ने वर्ष 2017 से ही विशेष कार्यावाहियां शुरू की हैं और कुल 14 हजार मामलों को बर्खास्त किया गया है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी