माउंट चोमोलंगमा का सदैव संरक्षण

2019-04-16 11:37:01

पेइचिंग के वानिकी विश्वविद्यालय के एक विशेषज्ञ का मानना है कि कुछ क्षेत्रों में लोगों को प्राकृतिक संरक्षण करने का विचार कमजोर है, उन्होंने आर्थिक लाभ के लिए प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र में आर्थिक निर्माण किया है। और यह सवाल भी है कि प्राकृतिक संरक्षण कानून में पर्याप्त धाराएं निर्धारित हैं, लेकिन अवैध कार्यवाहियों के खिलाफ जो दंडित कदम है, वह काफी जबरदस्त नहीं है। और माउंट चोमोलंगमा के प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र में कई काउंटी नगरों को भी वर्गीकृत किया गया है, जिससे लोगों के सामान्य जीवन को प्रभावित किया गया है। ऐसी समस्याओं का समाधान भी कदम ब कदम किया जा रहा है। विशेषज्ञों का मानना है कि आज सबसे फोरी बात है कि नेशनल पार्क की प्रधानता से प्राकृतिक संरक्षण व्यवस्था कायम की जाएगी। और मौजूदा प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र कानून का संशोधन किया जाएगा। मिसाल के तौर पर माउंट चोमोलंगमा के प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र में पारिस्थितिकी कमजोर होने का दबाव उभर रहा है। वर्ष 2018 के वसंत मौसम में कर्मचारियों ने विश्व की सबसे ऊंची चोटी के पर्वतारोहण शिविर में 8400 किलो कचरे साफ किये। माउंट चोमोलंगमा के संरक्षण को कड़ा बनाने और मानव गतिविधियों से बचाने के लिए पर्वतारोहण शिविर को थोड़ा नीचे रखने की जरूरत है। माउंट चोमोलंगमा के पाँव पर कुछ स्वयंसेवक पर्वतारोहियों के कचरे की सफाई किया करते हैं। उन की पवित्र भावना से तिब्बत में सही वातावरण सुरक्षित करने की गारंटी की जाती है। क्योंकि तिब्बती पठार पर प्राकृतिक वातावरण का अच्छी तरह संरक्षण करना हमारा समान कर्तव्य है। महासचिव शी चिनफिंग ने कहा कि तिब्बती पठार का अच्छी तरह संरक्षण करना चीनी राष्ट्र के अस्तित्व और विकास के लिए सबसे बड़ा योगदान है। इसलिए हमें अपनी आंखों के जैसे प्राकृतिक वातावरण की रक्षा करनी चाहिये और देश की पारिस्थितिक सुरक्षा बाधा को मजबूत करना चाहिये।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी