तिब्बत में विकास का नया युग

2019-04-29 15:06:00

तिब्बत में विकास का नया युग

सन 1959 में नये चीन की सरकार ने तिब्बत में लोकतांत्रिक रुपांतर शुरू किया। जिससे तिब्बत में राजनीतिक और धार्मिक एकीकरण की सामंती भूदास व्यवस्था को भंग किया गया और तिब्बती भूदासों, जो तिब्बती जनसंख्या के 95 प्रतिशत भाग रहता था, की मुक्ति की गयी। तिब्बती जनता एकता, समृद्धता और सभ्यता वाले नये तिब्बत का निर्माण करने वाले युग में प्रविष्ट हो गयी। उस समय से आज तक के साठ सालों में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेतृत्व में तिब्बत में विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की गयी हैं।

तिब्बत में की गयी लोकतांत्रिक क्रांति चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेतृत्व में की गयी चीनी जनवादी क्रांति का भाग है। और इससे तिब्बत में पिछड़े हुए समाज रूप को उन्नतशील रूप से प्रतिस्थापित किया गया है। जो तिब्बत के इतिहस में मील का पत्थर जैसी प्रगति मानी जाती है। तिब्बत में लोकतांत्रिक सुधार होने से पहले राजनीतिक और धार्मिक एकीकरण की व्यवस्था कायम हुई थी। वास्तव में वह सामंती भूदास व्यवस्था मानी जाती थी। इसी व्यवस्था से तिब्बत में सामाजिक विकास को रोका जाता था। भूदासों का अत्यंत बेचारा जीवन था। कक्ष, कुलीन वर्ग और ऊपरी भिक्षुओं, जिन की मात्रा कुल जनसंख्या का पाँच प्रतिशत रहता था, को अधिकांश भूमि और पशु प्राप्त हुए थे। लेकिन भूदासों के पास उत्पादन सामग्री और व्यक्तिगत स्वतंत्रता नहीं थी, और नहीं प्राप्त था बुनियादी राजनीतिक अधिकार, सामाजिक अधिकार और सांस्कृतिक और शैक्षिक अधिकार। भूदासों के खिलाफ राजनीतिक और आध्यात्मिक रूप से क्रूरता से अत्याचार किया गया था। इसलिये तिब्बत में इस पिछड़ी हुई सामंती व्यवस्था का खात्मा करने और लोकतांत्रिक सुधार करने की बड़ी आवश्यकता थी।

1234...>

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी