झीलों और नदियों का अच्छी तरह संरक्षण

2019-09-09 15:33:00

हाल में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के शाननान शहर की जन प्रतिनिधि सभा की स्थानी कमेटी ने यमद्रोक झील का संरक्षण नियम पारित किया। जिससे इस झील में जल संरक्षण और प्रदूषण की रोकथाम के लिए मददगार होगा।

यमद्रोक झील तिब्बती पठार के दक्षिण में स्थित है जो तिब्बत की राजधानी ल्हासा शहर से 70 किलोमीटर दूर है। इस झील का तिब्बती नाम है यमद्रोक त्सो, वह तिब्बत में तीन प्रमुख पवित्र झीलों में से एक है। यमद्रोक झील का क्षेत्रफल 675 वर्ग किलोमीटर है और झील की ऊंचाई समुद्र तल से 4,441 मीटर होती है। अभी प्रकाशित संरक्षण नियम के मुताबिक इस झील के जल संरक्षण और जल प्रदूषण की रोकथाम के कार्यों को और सख्त बनाया जाएगा। नियम के अनुसार यमद्रोक झील के संरक्षण कार्यों के लिए एक प्रमुख भी नियुक्त किया जाएगा जो इस झील के जल क्षेत्रों के प्रबंधन, संरक्षण और देखभाल की जिम्मेदारी उठाएंगे। संरक्षण क्षेत्रों में सभी निर्माण परियोजनाओं को खत्म किया जाएगा और पारिस्थितिक संरक्षण, बाढ़ व आपदा की रोकथाम और पानी की गुणवत्ता की निगरानी जैसी सार्वजनिक सुविधाओं से असंबंधित परियोजनाओं को सब बन्द किया जाना चाहिये। झील में फिशिंग करना भी निषिद्ध है। यमद्रोक झील के संरक्षण नियम के मुताबिक सभ्यतापूर्ण पर्यटन को भी प्रोत्साहित किया जाएगा। प्रति वर्ष के 25 मई को यमद्रोक झील का संरक्षण दिवस तय किया जाएगा और सभी लोगों को इस झील के संरक्षण कार्यों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इस झील के क्षेत्र में पर्यटन का अच्छी तरह विकास करने के लिए स्थानीय सरकार ने सछ्वान प्रांत तथा दूसरे क्षेत्र के कारोबारों के साथ समझौता संपन्न किया जिसके मुताबिक यमद्रोक झील के पर्यटन क्षेत्र में भारी निवेश लगाकर पर्यटन उद्योग का उन्नयन किया जाएगा ताकि पर्यटन के विकास से गरीबी उन्मूलन को बढ़ाया जाए।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी